पोस्ट शेयर करे
  • आयकर विभाग ने अजित पवार के परिवार से जुड़ी बेहिसाब संपत्ति का खुलासा किया
  • रेड में दो रियल एस्टेट समूहों की 184 करोड़ रुपए की बेहिसाब आय का पता लगाया गया
  • मुंबई, पुणे, बारामती, गोवा और जयपुर के 70 परिसरों पर 7 अक्टूबर को छापे मारे ग

मुंबई, आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के डेप्युटी सीएम अजित पवार के परिवार से जुड़ी बेहिसाब संपत्ति से जुड़ी अहम जानकारी बताई है। आयकर विभाग ने बताया कि 7 अक्टूबर को छापेमारी में दो रियल एस्टेट समूहों की 184 करोड़ रुपए की बेहिसाब आय का पता लगाया गया।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने बताया कि मुंबई, पुणे, बारामती, गोवा और जयपुर के 70 परिसरों पर सात अक्टूबर को छापे मारे गए थे। आयकर विभाग की ओर से बताया गया, ‘छापेमारी के दौरान मिले सबूतों से बेहिसाब और बेनामी धन के कई बार लेन-देन का पता चला।’ किसी का नाम बताए बिना कहा गया, ‘दोनों समूहों की करीब 184 करोड़ रुपये की बेहिसाब आय के सबूत मुहैया कराने वाले आपत्तिजनक दस्तावेज मिले हैं।’

4.32 करोड़ रुपये के गहने जब्त
पवार ने छापेमारी के दिन मीडिया से कहा था कि उनकी तीन बहनों के परिसरों पर भी आयकर ने छापेमारी की। उनकी एक बहन महाराष्ट्र के कोल्हापुर और दो बहनें पुणे में रहती हैं। सीबीडीटी ने कहा कि छापेमारी के दौरान 2.13 करोड़ रुपए की बेहिसाब संपत्ति और 4.32 करोड़ रुपए के गहने जब्त किए गए थे।

दिल्ली के पॉश इलाके में फ्लैट, गोवा में रिजॉर्ट
बयान में कहा गया, ‘संदिग्ध तरीकों से मिले धन का इस्तेमाल मुंबई के एक मुख्य इलाके में कार्यालय की इमारत, दिल्ली के एक पॉश इलाके में फ्लैट, गोवा में रिजॉर्ट, महाराष्ट्र में कृषि भूमि और चीनी की मिलों जैसी विभिन्न पूंजियों में निवेश करने के लिए किया गया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

RBI का ऐलान;अब नहीं मिलेगा 2000 रुपये का नोट, नोटबंदी के बाद लाया गया था

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेनई दिल्ली, बहुत जल्द आपको मार्केट से 2000 के नोट…

मीडिया समूह दैनिक भास्कर पर आयकर की छापेमारी, कई जगहों पर चल रहा है तलाशी अभियान

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करे नई दिल्ली, समाचार एजेंसी ANI ने जानकारी दी है…

7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों को 3 किस्तों में मिलेगा 28% डीए

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेनई दिल्ली. आज का दिन लाखों केंद्रीय कर्मचारियों (Government Employee’s)…

भारत में लॉकडाउन और पाबंदियों से अप्रैल में 75 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई नौकरियां, बेरोजगारी दर चार माह में सबसे ज्यादा

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेमुंबई, कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर और उसकी रोकथाम के लिए…