पोस्ट शेयर करे

रायपुर, सोमवार को प्रदेश के लगभग 7 हजार से अधिक प्राइवेट स्कूल बंद हैं । प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने पहले ही 25 अक्टूबर को प्रदेश स्तर पर हड़ताल का ऐलान किया था। सोमवार की दोपहर राज्य भर से कई स्कूल संचालाक रायपुर पहुंचे। बूढ़ापारा के धरना स्थल पर जमा होकर स्कूल एसोसिएशन के लोग सरकार के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की। एसोसिएशन के इस फैसले की वजह से प्रदेश के सभी प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले करीब 16 लाख बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होगी।

स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने बताया कि सरकार लगातार हमारी मांगों की अनदेखी कर रही है। इस हड़ताल का प्रमुख कारण RTE (राइट टू एजुकेशन) के तहत प्राइवेट स्कूलों को मिलने वाला पैसा है। पिछले कई महीने से करीब 106 करोड़ रुपए सभी स्कूलों के बकाया है, जो सरकार ने अब तक नहीं दिए हैं। सोमवार को सभी स्कूलों में ताले लग गए। टीचिंग स्टाफ, नॉन टीचिंग स्टाफ सभी हड़ताल पर हैं। लगभग 2 हजार कर्मचारी और स्कूल संचालक रायपुर में धरने पर बैठ गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Education;10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया आज से शुरू

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा 2022 के…

छत्‍तीसगढ़ बोर्ड;10वीं-12वीं की परीक्षा मार्च के पहले सप्ताह से होगी, 6.82 लाख नियमित छात्र देंगे परीक्षा

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, दसवीं-बारहवीं सीजी बोर्ड की परीक्षा मार्च के पहले सप्ताह…

अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों को लेकर DPI ने सभी DEO को जारी किया पत्र

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों पर अविलंब कार्रवाई करने…

सभी स्कूलों में गठित की जाएंगी शाला प्रबंधन समिति

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेमुख्यमंत्री शाला आपदा प्रबंधन योजना,विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों का दो दिवसीय…