पोस्ट शेयर करे

नई दिल्ली, आईपीएल की 2 नई टीमों का ऐलान हो गया. इसके साथ ही 2022 से आईपीएल में 8 के बजाए 10 टीमें एक-दूसरे के खिलाफ खेलती नजर आएंगी. ये टीम अहमदाबाद (Ahmedabad) और लखनऊ (Lucknow) हैं. ऑक्शन में (IPL 2022 Team Auction) अहमदाबाद को सीवीसी कैपिटल (CVC Capital) ने 5625 करोड़ जबकि लखनऊ को आरपी संजीव गोयनका ग्रुप (RP Sanjiv Goenka Group) ने 7090 करोड़ रुपए में खरीदा. यानी दोनों टीम से बीसीसीआई (BCCI) को लगभग 12,715 करोड़ रुपए मिले. क्रिकइंफो से बात करते हुए संजीव गोयनका ने कहा कि वे आईपीएल में वापसी करके खुश हैं. अभी तो यह शुरुआत है. हम अच्छी टीम बनाएंगे. इससे पहले ग्रुप ने पुणे की टीम खरीदी थी. टीम 2016 और 2017 में आईपीएल में खेली भी थी. अगले सीजन में सभी टीमें 14 मैच खेलेंगी. 7 घर में और 7 घर के बाहर. कुल 74 मुकाबले खेले जाएंगे.

ऐसा पहली बार नहीं होगा कि लीग में 10 टीम में होंगी. 2011 में भी आईपीएल में 10 टीमें खेली थीं. उस वक्त कोच्चि टस्कर्स केरला और पुणे वॉरियर्स नाम की फ्रेंचाइजी लीग का हिस्सा बनीं थीं. आईपीएल की दो नई टीमें के लिए रेस में 6 शहर थे. इसमें अहमदाबाद, लखनऊ, कटक, गुवाहाटी, धर्मशाला और इंदौर का नाम था. हालांकि, सबसे मजबूत दावेदार अहमदाबाद ही थी. इसकी बड़ी वजह वहां इस साल बना दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम. इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख से ज्यादा है. इसके अलावा लखनऊ का नाम भी इस लिस्ट में सबसे आगे था. इस शहर में भी विश्वस्तरीय क्रिकेट स्टेडियम है.

दो टीमों को खरीदने के लिए कुल 22 औद्योगिक घरानों और कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई थी. इन सभी ने टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदे थे. बोली लगाने वालों में अडानी ग्रुप, इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक ग्लेजर परिवार, टोरेंट फार्मा, अरबिंदो फार्मा, पूर्व मंत्री नवीन जिंदल की जिंदल स्टील के अलावा कई प्राइवेट इक्विटी से जुड़े लोग भी शामिल थे. कभी पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का मैनेजमेंट करने वाली रीति स्पोर्ट्स ने भी आईपीएल की दो नई फ्रेंचाइजी में से एक के लिए बोली लगाई थी.

बीसीसीआई ने 2 बार बढ़ाई तारीख

बीसीसीआई ने दो नई आईपीएल टीमों को खरीदने के लिए जो शर्तें जारी की थीं. उसमें यह था कि निवेशक दोनों टीमों को खरीदने के लिए आवेदन कर सकता था. लेकिन अंत में वो सिर्फ एक ही टीम खरीद सकता था. पहले बीसीसीआई ने बीड खोलने का दिन 17 अक्टूबर तय किया था. लेकिन इसमें देरी हो गई. क्योंकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने नई टीमों को खरीदने के लिए निवेशकों की रूचि को देखते हुए पहले दो बार- पहले 10 अक्टूबर और फिर 20 अक्टूबर को टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदने की डेडलाइन बढ़ा दी थी. हालांकि, आज दुबई में बीडिंग प्रक्रिया पूरी हो गई.

इतिहास की सबसे महंगी टीम

बीसीसीआई ने नई टीमों के लिए 2000 करोड़ रुपए का बेस प्राइस तय किया था. हालांकि, पहले से ही उम्मीद थी कि नीलामी में इससे अधिक रकम मिलेगी और ऐसा ही हुआ. इससे पहले 2010 में सहारा ग्रुप ने पुणे फ्रेंचाइजी को 370 मिलियन डॉलर में खरीदा था. इससे पहले 2008 में रिलायंस ग्रुप ने मुंबई इंडियंस को 111.9 मिलियन डॉलर में खरीदा था. लखनऊ की टीम इतिहास की सबसे महंगी टीम बन गई है.

अमेरिका की प्राइवेट कंपनी है सीवीसी

सीवीसी कैपिटल अमेरिका की प्राइवेट एक्विटी कंपनी है. कंपनी ने इससे पहले फॉर्मूला-1 में भी साझेदारी खरीदी है. ग्लोबल फर्म ने पिछले दिनों सिक्स नेशंस रग्बी टूर्नामेंट में 14.3 फीसदी हिस्सेदारी 509 मिलियन डॉलर में खरीदी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

अबूझमाड़ के बच्चों के हैरतअंगेज मलखंभ प्रदर्शन;मलखंभ अकादमी की स्थापना का प्रस्ताव;खिलाड़ियों के लिए होगी अब डीएमएफ मद से बेहतर डाईट की व्यवस्था

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेनारायणपुर, मलखंभ के खिलाड़ियों द्वारा आज नारायणपुर में रोमांचक प्रदर्शन…

Olympic; तोक्यो ओलिंपिक में सबसे कम उम्र की है ये एथलीट, अपने से 31 साल बड़ी खिलाड़ी को दी थी मात

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेनई दिल्ली, दुनिया के सबसे बड़े खेलों के महाकुंभ का…

भारत-इंग्लैंड टेस्ट चौथा दिन;पहले टेस्ट में जीत से 157 रन दूर टीम इंडिया; इंग्लैंड की दूसरी पारी 303 रन पर सिमटी, बुमराह को 5 विकेट

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेटेंट ब्रिज, भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट की…

Copa America 2021; अर्जेन्टीना ने ब्राजील को हराकर जीता कोपा कप, मैसी का सपना हुआ पूरा

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेमारिया के शानदार गोल की मदद से खिताब की प्रबल…