पोस्ट शेयर करे

रायपुर, नीति आयोग द्वारा 23 नवम्बर 2021 को जारी ’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर नगरीय क्षेत्र को ’’फ्रंट रनर’’ की श्रेणी में रखा गया है। उल्लेखनीय है कि नीति आयोग द्वारा प्रथमबार इस प्रकार के सतत् विकास लक्ष्य अंतर्गत शहरी इंडेक्स को जारी किया गया है। इंडेक्स में देश के 56 नगरीय क्षेत्रो को 77 सूचकांको में प्राप्त की गई प्रगति के आधार पर रैंकिंग दी गई है। जिसमें रायपुर ने 67.36 अंक प्रदान कर 20वीं रैंक प्राप्त की है। 56 नगरीय क्षेत्रो में सर्वाधिक अंक 75.5 प्राप्त कर शिमला प्रथम रैंक पर है। छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस इंडेक्स में रायपुर शहर का स्कोर व रैंक अनेक बड़े व प्रमुख शहरो जैसे- मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, भुवनेश्वर, लखनऊ, प्रयागराज, रांची, इंदौर से बेहतर है।
    गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा सतत् विकास को सुनिश्चित करने 17 एसडीजी लक्ष्य निर्धारित किये गये है। एसडीजी के उद्देश्यों की पूर्ति हेतु देश तथा राज्य प्रतिबद्ध है। राज्य स्तर पर इन लक्ष्यों के अंतर्गत प्राप्त प्रगति के मूल्यांकन हेतु राज्य योजना आयोग द्वारा ’’एस.डी.जी. स्टेट इंडिकेटर फ्रेमवर्क’’ एवं ’’एस.डी.जी. बेसलाईन एवं प्रोग्रेस रिपोर्ट’’ तैयार की गई है, जिसे मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 12 जुलाई 2021 को जारी किया गया है। इस फ्रेमवर्क के आधार पर विभागों द्वारा सतत् अनुश्रवण व अनुशीलन रायपुर शहर की इस उपलब्धि में सहायक रहा है।
    ’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में रायपुर शहर को एस.डी.जी. गोल 12 (रिस्पोंसिबल प्रोडक्शन एण्ड कंजप्शन) में सर्वाधिक 86 अंक, गोल 4 (क्वालिटी एजुकेशन) तथा गोल 6 (क्लीन वाटर एण्ड सेनिटेशन) में 79 अंक प्राप्त हुये है। साथ ही गोल 7 (अर्फोडेबल एण्ड क्लीन एनर्जी), गोल 9 (इंडस्ट्री, इनोवेशन एण्ड इंफ्रास्ट्रक्चर), गोल 11 (स्टेनेबल सिटीज एण्ड कम्युनिटीज), गोल 13 (क्लाईमेट एक्शन तथा गोल 16 (पीस, जस्टिस एण्ड स्ट्रोंग इंस्टीट्यूशन) में भी अच्छा स्कोर प्राप्त हुआ है। जिसके कारण रायपुर को ’’फ्रंट रनर’’ की श्रेणी में रखा गया है। नीति आयोग द्वारा जारी ’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में 56 शहरों को रैंकिंग दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

कैबिनेट का बड़ा फैसला-आरबीआई की निगरानी में आए 1540 सहकारी बैंक, जानिए क्या होगा ग्राहकों पर असर

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेनई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट…

कृषि अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाने बैंकों का योगदान सराहनीय:पाटील

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेजी.डी. बिड़ला की 125वीं जयंती पर यूको बैंक का हिन्दी…

1.13 करोड़ सरकारी कर्मचारियों को झटका! महंगाई भत्ता बढ़ाने पर लगी रोक

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेनई दिल्ली, केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनधारियों के लिए…

यस बैंक के किसी भी खाताधारक का पैसा नहीं डूबेगा-अनुराग

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेजिन्होंने गड़बड़ी की वे सलाखों के पीछे हैं’– केन्द्रीय वित्त…