पोस्ट शेयर करे

रायपुर,  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि बीते कुछ दिनों से मौसम ठीक न होने की वजह से राज्य में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की स्थिति प्रभावित हुई है। इसको लेकर किसानों को चिन्ता करने की जरूरत नहीं है। मौसम ठीक होते ही उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी में तेजी लायी जाएगी। राज्य में अब तक 69.05 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। जो करीब 65 % है। ऐसी स्थिति में शेष 35% धान की खरीदी अगले 10 दिन में होना मुश्किल है। जबकि अभी 17 लाख 14 हजार किसानों ने ही धान बेचा है जो पंजीकृत किसानों 4 लाख कम है।

वर्तमान स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से धान उपार्जन की व्यवस्था की समीक्षा की और इस संबंध में आवश्यक कदम उठाने को कहा है।  मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य में सभी पंजीकृत कृषकों से धान की खरीदी की जाएगी। इसके लिए उपार्जन केन्द्रों में खरीदी की व्यवस्था को और अधिक विस्तारित करने के निर्देश दिए गए है। मौसम खुलते ही किसानों से तेजी से धान खरीदी की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

उन्होंने कहा है कि राज्य में धान खरीदी की अंतिम तारीख 31 जनवरी है। सरकार की यह कोशिश होगी की इस अवधि में शत-प्रतिशत किसानों से उनके पंजीकृत रकबे के धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर पूरी कर ली जाए। उन्होंने कहा है कि आवश्यकता पड़ने पर किसानों के सहूलियत के लिए धान खरीदी के निर्धारित अवधि में वृद्धि करने का विचार किया जाएगा। 

अब तक 69.05 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी

छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के चालू सीजन में राज्य के 2484 धान उपार्जन केन्द्रों में आज शाम तक 17 लाख 14 हजार 159 किसानों से 69 लाख 05 हजार 182 मीटरिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। अब तक राज्य सरकार द्वारा धान खरीदी के अनुमानित लक्ष्य का 65.76 प्रतिशत धान की खरीदी हो चुकी है। धान खरीदी के एवज में किसानों को बैंक लिकिंग व्यवस्था के तहत 13,426 करोड़ 57 लाख रूपए जारी कर दिए गए हैं।  
खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 32 लाख 03 हजार मीटरिक टन धान का डीओ जारी कर दिया गया है। उपार्जन केन्द्रों से मिलर्स द्वारा 26 लाख 86 हजार मीटरिक धान का उठाव कर लिया गया है। इसी प्रकार अब तक 13 लाख 36 हजार मीटरिक टन धान के परिवहन के लिए टी.ओ. जारी किया गया है। जिसके विरूद्ध समितियों से 7 लाख 64 हजार मीटरिक टन धान का उठाव हो चुका है।


जांजगीर-चांपा जिला, प्रदेश में समर्थन मूल्य पर 14 जनवरी तक धान खरीदी के मामले में पहले पायदान पर है। वहां 6 लाख 09 हजार 537 मीटरिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। वहीं राजनांदगांव जिला प्रदेश में धान खरीदी में दूसरे स्थान पर है। वहां 6,02,120 मीटरिक टन धान की खरीदी हुई है। महासमुंद जिला धान खरीदी में आज राज्य में तीसरे स्थान पर है। महासमुंद जिले में 4 लाख 77 हजार 313 मीटरिक टन धान की खरीदी की गई है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

अच्छी बारिश का दौर थमा, किसान कर सकते हैं बोनी

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, प्रदेश में मानसून की बारिश का दौर फिलहाल थम…

कृषि विज्ञान केन्द्र में मना महिला कृषक दिवस, छत्तीसगढ़ी व्यंजनों की धूम

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, भारतीय कृषि में महिलाओं की विशेष भूमिका है एवं…

नकली कीटनाशक बिक्री केंद्रों में छापामारी जारी;कई संचालको को नोटिस

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, घटिया और नकली कीटनाशक के उत्पादों की बिक्री पर…

5 को चक्का जाम,किसान सभा ने 10 नवम्बर से धान खरीदी की मांग की

पोस्ट शेयर करे
पोस्ट शेयर करेरायपुर, छत्तीसगढ़ किसान सभा ने राज्य सरकार से 10 नवम्बर…