कृषि

आज अंतिम दिन 2 लाख मी. टन धान खरीदी होगी, टोकन जारी

खाद्य सचिव की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग अंतिम दिन की खरीदी व्यवस्था के संबंध में कलेक्टरों को दिए दिशा-निर्देश

रायपुर, खाद्य सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने आज शाम राज्य में धान खरीदी के अंतिम दिन 20 फरवरी को तैयारियों के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर जिला कलेक्टरों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टरों को निर्देशित किया गया है कि धान खरीदी के अंतिम दिन जारी होने वाले टोकनों से धान खरीदी के लिए आवश्यक बारदानों की व्यवस्था जिलों में उपलब्ध बारदानों के आंतरिक परिवहन के माध्यम से की जाए। धान खरीदी के अंतिम दिवस सभी वास्तविक कृषकों से धान खरीदी सुनिश्चित किए जाने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं बनाए रखने के लिए भी कलेक्टरों को निर्देशित किया गया। 
मार्कफेड द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में 15 हजार 552 गठान नए बारदाने और 27 हजार 708 गठान पुराने बारदाने उपलब्ध हैं। धान खरीदी के अंतिम दिवस लगभग दो लाख टन की धान खरीदी के लिए टोकन किसानों को जारी किए गए हैं। खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत के निर्देशानुसार 3 गठान नए बारदाने कोण्डागांव जिले को, 50 गठान नए बारदाने बीजापुर जिले को, 5 गठान नए बारदाने दंतेवाड़ा जिले को और 10 गठान नए बारदाने कांकेर जिले को 18 फरवरी को उपलब्ध कराए गए हैं। 

उन्होंने कहा है कि गत वर्षो में प्रायः देखा गया है कि धान खरीदी के अंतिम दिनों में खरीदी केन्द्रों में ज्यादा मात्रा में धान आने की संभावना होती है इस दौरान अवांछित तत्वों द्वारा अवैध रूप से धान खपाने का प्रयास किया जाता है। अतः खरीदी के अंतिम दिनों में खरीदी केन्द्रों में किसानों से सुव्यवस्थित रूप से धान खरीदी करने के लिए आवश्यक व्यवस्था करने कहा गया है। धान खरीदी केन्द्रों में लाए गए धान की तौलाई एवं एंट्री का काम 20 फरवरी तक अनिवार्य रूप से कर लिया जाए। नोडल अधिकारी द्वारा 20 फरवरी को खरीदी केन्द्रों में भ्रमण कर धान खरीदी का स्टाक का भौतिक सत्यापन कर कुल धान खरीदी की मात्रा एवं धान बेचने वाले कुल किसानों की संख्या की जानकारी कलेक्टर को उपलब्ध कराए जाए। कलेक्टर द्वारा जिले के सभी केन्द्रों से नोडल अधिकारी से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर 20 फरवरी की स्थिति में जिले में कुल धान खरीदी की मात्रा एवं कुल धान बेचने वाले किसानों की संख्या की जानकारी निर्धारित प्रारूप में 21 फरवरी तक ई-मेल के माध्यम से अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है।
       

Related Articles

5 Comments

  1. 998716 734448An intriguing discussion will probably be worth comment. Im confident which you require to write a lot more about this topic, it might not be a taboo topic but usually consumers are too couple of to chat on such topics. To yet another. Cheers 111267

  2. 228707 688299of course like your web-site even so you require to check the spelling on quite several of your posts. A number of them are rife with spelling issues and I to uncover it really bothersome to inform the reality however Ill surely come back again. 149272

  3. 255243 303191Great paintings! This is the kind of information that should be shared about the internet. Disgrace on Google for now not positioning this publish upper! Come on more than and speak over with my web site . Thanks =) 196501

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button