कला-संस्कृति

कृषि विश्वविद्यालय भुवनेश्वर ओवरआॅल चैम्पियन व परभणी रनरअप बना

पांच दिवसीय उत्सव एग्री युनिफेस्ट का समापन

रायपुर, इंदिरा गांधी कृशि विष्वविद्यालय, रायपुर में आयोजित पांच दिवसीय अखिल भारतीय अंतर विष्वविद्यालयीन युवा उत्सव एग्री युनिफेस्ट 2019-20 का आज यहां समापन हुआ। समापन समारोह में विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता दलों और प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरण किया गया। ओवर आॅल चैम्पियनशिप का खिताब ओड़िशा एवं कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर ने जीता जबकि वसंतराव नाइक मराठवाड़ा कृषि विद्यापीठ परभणी रनरअप रहा।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में 8 से 12 फरवरी तक आयोजित इस एग्री युनिफेस्ट में देश भर के 60 कृषि विश्वविद्यालयों के विद्यार्थी शामिल हुए और संगीत, नृत्य, नाटक, साहित्य एवं ललित कला की विभिन्न प्रतियोगिताओं के तहत भारतीय कला-संस्कृति के विविध रंग बिखेरे। एग्री युनिफेस्ट के समापन समारोह के मुख्य अतिथि रायपुर नगर निगम के महापौर एजाज ढ़ेबर ने इस अवसर पर कहा कि इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में पांच दिवसीय एग्री युनिफेस्ट का आयोजन रायपुर और छत्तीसगढ़ के लिए गौरव की बात है। इतने विशाल आयोजन के दौरान कश्मीर से केरल तक विभिन्न प्रांतों से आए विद्यार्थियों ने आपस में मेल-मुलाकात कर एक दूसरे की संस्कृति एवं रीति-रिवाजों को जाना-समझा। इससे सामाजिक सद्भाव और राष्ट्रीय एकता की भावना और भी प्रगाढ़ हुई है। ऐसे आयोजनों की सामाजिक समरसता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

समारोह की अध्यक्षता करते हुए इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. एस.के. पाटील ने कहा कि पिछले पांच दिनों में देश भर से आए विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने जोश और उमंग के साथ अपनी-अपनी प्रस्तुतियां दी। और यहां कला-संस्कृति के विविध रंग देखने को मिले। उन्होंने इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों की सहभागिता के बावजूद उनका अनुशासन देखने लायक था। विद्यार्थियों और उनके टीम मैनेजरों ने आयोजन की सफलता में सहयोग दिया जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं।
समापन समारोह में विभिन्न श्रेणियों एवं प्रतियोगिताओं की विजेता टीमों एवं प्रतिभागियो को पुरस्कृत किया गया। साहित्य श्रेणी के अंतर्गत इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर को प्रथम तथा आणंद कृषि विश्वविद्यालय, गुजरात को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ। ललित कला श्रेणी के अंतर्गत वसंतराव नाइक मराठवाड़ा कृषि विद्यापीठ, परभणी को प्रथम तथा ओड़िशा कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर को द्वितीय स्थान मिला। संगीत श्रेणी के अंतर्गत पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, लुधियाना को प्रथम तथा डाॅ. बाला साहेब सावंत कोंकण कृषि विद्यापीठ, दापोली और श्री वैंकटेश्वर पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय, तिरूपति को संयुक्त रूप से द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ। रंगमंच श्रेणी के तहत कृषि विश्वविद्यालय, बैंगलोर पहले और वसंतराव नाइक मराठवाड़ा कृषि विद्यापीठ, परभणी दूसरे स्थान पर रहे। इसी प्रकार नृत्य श्रेणी के अंतर्गत कृषि विश्वविद्यालय, बैंगलोर को प्रथम और डाॅ. पंजाबराव देशमुख कृषि विद्यापीठ, अकोला को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ।

व्यक्तिगत स्पर्धाओं के तहत विजेता प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया गया। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. जी.के. श्रीवास्तव ने स्वागत भाषण दिया और कृषि महाविद्यालय, रायपुर के अधिष्ठाता डाॅ. एस.एस. राव ने आभार प्रदर्शन किया। इस अवसर पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलसचिव जी.के निर्माम, निदेशक शिक्षण डाॅ. एम.पी ठाकुर और वित्त नियंत्रक वी.के. खलखो सहित विश्वविद्यालय प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, प्राध्यापकगण तथा कृषि वैज्ञानिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Related Articles

6 Comments

  1. 832677 623633This put up is totaly unrelated to what I used to be looking google for, however it was indexed on the first page. I guess your performing something proper if Google likes you adequate to location you at the initial page of a non related search. 776360

  2. 746665 305229Aw, i thought this was quite a good post. In concept I would like to devote writing such as this moreover – spending time and actual effort to produce a terrific article but exactly what do I say I procrastinate alot by no indicates manage to get something done. 631835

  3. 581392 655918Do you mind if I quote a couple of your posts as long as I offer credit and sources back to your web site? My blog is within the exact very same region of interest as yours and my visitors would truly benefit from some of the information you give here. Please let me know if this ok with you. Thanks! 714622

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button