अर्थव्यवस्था

आईएएस पूजा सिंघल मामले में ईडी का पहली बार आया बयान, छापेमारी में 36.58 करोड़ हुए बरामद

रांची, आईएएस पूजा सिंघल मामले में ईडी ने शुक्रवार की देर शाम पहली बार अपना बयान जारी किया। ईडी द्वारा बताया गया है कि मनरेगा घोटाला और साहिबगंज में की गई छापेमारी के दौरान कुल 36.58 करोड़ रुपए बरामद हुआ है। पूजा सिंघल प्रकरण के 70 दिन और पंकज मिश्रा के खिलाफ 7 दिनों तक चले छापेमारी अभियान में इतनी राशि बरामद हुई। इस दौरान 11.88 करोड़ रुपये का पता चला। ये रुपए मनी लाउंड्रिंग से जुड़ा थे। ईडी ने साहेबगंज, बरहेट, राजमहल, मिर्जा चौकी, बरहरवा में मारी गयी छापेमारी में 5.34 करोड़ रुपये का बेनामी पैसा बरामद किया गया था। ईडी ने दस्तावेजों के साथ-साथ डिजिटल दस्तावेज, बैंक खातों के डीटेल्स भी खंगाले थे। 


साहिबगंज में वन भूमि पर खनन का पता लगा
साहेबगंज में वन भूमि में अवैध खनन होने का ईडी ने जांच के दौरान पता लगाया है। इसमें एक सिंडिकेट गिरोह की तरफ से 100 करोड़ के अवैध माइनिंग में ईडी की तरफ से ट्रायल जारी है। आठ जुलाई को झामुमो नेता पंकज मिश्रा, उनके सहयोगी डहू यादव और 18 लोगों के खिलाफ छापेमारी की गयी थी।  जिसमें 37 बैंक खातों का पता चला था। ईडी को मनी लाउंड्रिंग की जानकारी भी मिली थी।पीएमएलए एक्ट 2002 के तहत इनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया है।

36 जगहों पर की गई छापेमारी
बयान में ईडी ने बताया है कि मई 2022 के बाद कुल 36 जगहों पर मनरेगा स्कैम के तहत 19.76 करोड़ रुपए रांची से बरामद हुए। मालूम को कि  रांची में पूजा सिंघल और उनके करीबियों के यहां ईडी ने छापेमारी की थी। ईडी ने कई लोगों का बयान दर्ज कराया था। जिसमें कई बड़े नाम सामने आया था। पूजा सिंघल, उनके पीए सुमन कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया था। ईडी द्वारा इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल कर दी है। पिछले दिनों 2 बक्सों में चार्जशीट भर ईडी की टीम कोर्ट पहुंची थी।

Related Articles

Back to top button