सम्पादकीय

खदान प्रभावित आदिवासियों को कपडे बर्तन के साथ मिलेंंगे मकान

आदिवासियों के उत्थान में सरकार का ठोस कदम, जिला खनिज संस्थान न्यास निधि से मिलेगी राशि, नियमो में किया गया संशोधन रायपुर, छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार अब प्रदेश के अमित धरती के गरीब लोगों की परिभाषा बदलने की कोशिश कर रही है और प्रदेश के गरीब आदिवासियों के उत्थान मेंं जुट गई है। अनुसूचित क्षेत्र केे खदान प्रभावित आदिवासियों को अब न केवल आवास दिए जाएंगे बल्कि उनके जीवन यापन के लिए बर्तन – कपड़े एवं अन्य जरूरी चीजें भी मुहैया कराई जाएंगी, इसके लिए जिला खनिज संस्थान न्यास नियम 2015 में जरूरी संशोधन भी कर दिया गया है।

अभी तक प्रदेश में खनन प्रभावितों को उनके जीवन यापन के लिए अथवा सामाजिक आर्थिक उत्थान के लिए कोई सुविधाएं नहीं दी जाती थी, केवल सामुदायिक कार्य ही किये जाते थे, अब जिला खनिज संस्थान न्यास निधि से 5 फीसदी राशि अनुसूचित क्षेत्र के खनन प्रभावितों के उत्थान में खर्च किए जाएंगे, बस्तर एवं सरगुजा क्षेत्र में बॉक्साइट लोह अयस्क एवं कोयले की खदानें हैं लेकिन यहां प्रभावितों को कुछ भी नहीं मिलता बल्कि खदान के कारण कई समस्याओं से उन्हें जुझना पड़ता है। इस अधिनियम में संशोधन से अब खदान प्रभावितों का भला होगा उन्हें काफी राहत मिलने की संभावना है।

राज्य शासन ने 6 फरवरी 2020 को जारी अधिसूचना में खान और खनिज खनिज विकास और अधिनियम 1957 की धारा के तहत प्रदत शक्तियों का प्रयोग करते हुए छत्तीसगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास नियम 2015 में संशोधन किया है, जिसके तहत प्रदेश के अनुसूचित क्षेत्रों में रहने वाले सभी खनन प्रभावितों को सामाजिक, आर्थिक उत्थान एवं उनके जीवन यापन के लिए मूलभूत सुविधाएं यथा आवास, महिला एवं बच्चों के लिए वस्त्र एवं अन्य आवश्यक घरेलू सामग्री आदि प्रदान किए जाएंगे इस हेतु अन्य प्राथमिकता क्षेत्रों के अंतर्गत निर्धारित राशि में से अधिकतम 5% राशि का उपयोग उपरोक्त कार्यो के लिए किया जाएगा। इस निधि में 60:40 का होता है, 60 फीसदी राशि में से 5% इस कार्य में खर्च किये जा सकेंगे।

Related Articles

2 Comments

  1. 736885 385987I enjoy the look of your site. I lately built mine and I was seeking for some tips for my site and you gave me several. May possibly I ask you whether you developed the website by youself? 955853

  2. 319757 700825Dude.. My group is not considerably into looking at, but somehow I acquired to read several articles on your blog. Its great how intriguing it is for me to go to you fairly often. 478906

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button