सम्पादकीय

150 करोड से ज्यादा की बेहिसाबी सम्पति का खुलासा ,नकदी भी जब्त

आयकर छापा, कई बैंक लॉकरों की जांच जारी

नई दिल्ली-रायपुर, प्रदेश के विभिन्न शहरो में मारे गये आयकर छापे मेंं प्र्थम द्दश्टया 150 करोड की अघोषित सम्पत्ति का पता चला है। आंंकडा अभी और बढ सकता हैै, क्योंंकि अभी कुछ संस्थानो मेें जांंच चल रही है।डेढ दर्जन से ज्यादा लोगो के निवास एवम संंस्थानो में पिछले चार -पांंच दिनो से आयकर विभाग की जांंच चल रही है । मुख्यमंत्ररी केे ओएसडी सौम्या चौरसिया के भिलाई आवास मेें आज ही जांंच शुरु हुई हैैै।

आयकर आयुक्त (मीडिया और तकनीकी नीति) आधिकारिक प्रवक्ता, सीबीडीटी सुरभि अहलूवालिया ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि आयकर विभाग रायपुर में व्यक्तियों, हवाला डीलरों और व्यापारियों के एक समूह पर खोज करता है। 27.फरवरी 2020 को, आयकर विभाग ने रायपुर में व्यक्तियों, हवाला डीलरों और व्यापारियों के एक समूह पर एक खोज की। खोज की कार्रवाई विश्वसनीय इनपुट्स, खुफिया और शराब और खनन व्यवसाय से बड़ी बेहिसाब नकदी के सृजन के साक्ष्य और सार्वजनिक सेवकों के लिए उसी के हस्तांतरण, विमुद्रीकरण अवधि के दौरान भारी नकदी जमा, शेल कंपनियों से आवास प्रविष्टियों, अघोषित निवेश के आधार पर की गई थी।

उन्होने बताया कि संपत्तियों आदि में, बाद में, खोज के दौरान मिले साक्ष्यों के आधार पर, कुछ अन्य परिसरों को भी परिणामी कार्यों में शामिल किया गया। खोज के दौरान जब्त किए गए दस्तावेज़ों और इलेक्ट्रॉनिक डेटा से पता चलता है कि लोक सेवकों और अन्य लोगों को हर महीने पर्याप्त मात्रा में अवैध संतुष्टि का भुगतान किया जा रहा था। इसके अलावा, बेहिसाब बिक्री के दैनिक विवरण, करोड़ों के लेन-देन वाले कर्मचारियों के नाम से खोले गए बैंक खाते और एक बेहिसाब बैंक खाते पाए गए हैं। बेनामी वाहनों, हवाला हस्तांतरण, कोलकाता स्थित कंपनियों को हस्तांतरण और विशाल लैंड बैंक के साथ शेल कंपनियों का विवरण भी पाया गया है और जब्त किया गया है।

उन्होने यह भी बताया कि खोज से पर्याप्त मात्रा में नकदी की जब्ती भी हुई है। अब तक प्राप्त कुल बेहिसाब लेनदेन एवम तलाशी के दौरान मिले सबूतों और सुरागों के बाद 150 करोड़ रु और यह आंकड़ा काफी हद तक बढ़ने की संभावना है। खोज कार्रवाई और जांच जारी है, और कई बैंक लॉकरों सहित कई निषेध आदेश दिए गए हैं।

Related Articles

One Comment

  1. 331375 354033I like this post a great deal. I will definitely be back. Hope that I will likely be able to read a lot more insightful posts then. Will probably be sharing your information with all of my associates! 301075

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button