शिक्षा-अनुसंधान

शिक्षक समाज का पथ-प्रदर्शक- डॉ. प्रेमसाय

शिक्षक शिक्षा महाविद्यालय का वार्षिक उत्सव कार्यक्रम

रायपुर, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा है कि शिक्षक समाज का पथ-प्रदर्शक होता है। शिक्षा महाविद्यालय में पढ़ने वाले शिक्षार्थी स्कूलों में जाकर समाज को एक नया रास्ता दिखाएंगे। डॉ. टेकाम आज शाम शंकर नगर रायपुर स्थित शासकीय शिक्षक-शिक्षा महाविद्यालय के वार्षिक उत्सव कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर महाविद्यालय की वार्षिक पत्रिका ‘अपराजिता‘ का विमोचन भी किया और शिक्षार्थियों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का आनंद भी लिया। 
डॉ. टेकाम ने कहा कि यह शिक्षकों के प्रशिक्षण का महाविद्यालय है। एक अच्छे शिक्षक के रूप में बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे। प्रशिक्षण यहीं है कि कैसे बच्चों के लिए वे बेहतर हो सकते है। प्रशिक्षित विद्यार्थियों को अपने आप को इस ढंग से व्यवस्थित करना है कि वे जिस स्कूल में पढ़ाने जाएं, वहां के परिवेश और वेश-भूषा से घुल मिल जाए। डॉ. टेकाम ने कहा कि विद्यार्थियों में किताबी ज्ञान के अलावा नए ज्ञान को प्राप्त करने की क्षमता विकसित करें। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सोच की अनुरूप प्रदेश में बच्चों को गुणवत्तायुक्त ज्ञानपूर्ण शिक्षा मिले।
वार्षिक उत्सव समारोह को संचालक लोक शिक्षण जितेन्द्र शुक्ला ने सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षकों का बच्चों से जुड़ाव होना जरूरी है। शिक्षकों को बच्चों के भविष्य को गढ़ने की जिम्मेदारी दी गई है। महाविद्यालय की प्राचार्य श्रीमती जे.एक्का ने महाविद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

Related Articles

2 Comments

  1. 270692 203268Your talent is truly appreciated!! Thank you. You saved me plenty of frustration. I switched from Joomla to Drupal towards the WordPress platform and Ive fully embraced WordPress. Its so considerably easier and easier to tweak. Anyway, thanks once more. Awesome domain! 503426

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button