स्वास्थ्य

कटघोरा में मिला एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज..

मस्जिद में जिला प्रशासन ने किया था क्वारेंटाईन कोरबा,  कोरोना को लेकर प्रशासन की सतर्कता के बीच कटघोरा के मस्जिद में क्वारनटाईन किए गए कुछ लोगों में से एक को कोरोना पॉजीटिव पाया गया है। जिला प्रशासन उसे एम्स भेज रहा है।
ज़िले के एक धार्मिक स्थल पर ही क्वारनटाईन किए गए इस व्यक्ति को लेकर केवल यह जानकारी है कि यह महाराष्ट्र का मूल निवासी है और नागपुर के कामठी से लौटा था। धार्मिक स्थल की ओर से पूर्व में प्रशासन को इन धार्मिक यात्रियों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई गई थी, जिसके बाद उन्हें क्वारनटाईन किया गया था। इस सूचना के बाद एक धार्मिक यात्री को कोरोना पॉजीटिव है, उसके पिछले इतिहास को खंगाला जा रहा है।  पता चला है कोरोना पॉजिटिव 16 साल का युवक है जो कि महाराष्ट्र से कोरबा जिला के कटघोरा में मस्जिद में आकर ठहरा हुआ था। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र से कोरबा मुस्लिम जमात के 30 लोग कटघोरा में आए हुए थे। ये सभी कटघोरा के 2 मस्जिदों में 16 और 14 कि संख्या में ठहरे हुए थे। लॉकडाउन के दौरान मस्जिद में बाहर से आये लोगो की जानकारी प्रशासन को  मिलने पर कलेक्टर किरण कौशल ने तत्काल सभी महाराष्ट्र से आये मुस्लिम जमात के लोगों को मस्जिद में ही कवारेंटाइन कर दिया गया था। वही निज़ामुद्दीन के तब्लीगी से आने वाले 20 मुस्लिमो को एसईसीएल गेवरा के हास्टल में कवारेंटाइन कराया गया था। डॉक्टरों की टीम लगातार इन पर नज़र बनाये हुए थी। तभी कटघोरा के मस्जिम में कवारेंटाइन एक 16 साल के युवक की तबियत खराब होने पर उसका सैंपल जांच के लिए रायपुर एम्स भेजा गया, जहा उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम अलर्ट हो गई है। इस पूरे प्रकरण में राहत वाली बात यह रही कि जिला प्रशासन की मुस्तैदी से महाराष्ट्र से कोरबा आये सभी संदिग्धों को समय पर मस्जिद में ही कवारेंटाइन कर लिया गया। ये कटघोरा क्षेत्र में बाहर नही निकल सके। फिलहाल डॉक्टरों और जिला प्रशासन की टीम युवक की यात्रा का वृतांत खंगाल रही है।

Related Articles

One Comment

  1. 848331 527653Private Krankenversicherung – Nur dann, wenn Sie sich fr die Absicherung ber die Rentenversicherung entschieden haben, dann knnen Sie sich sicher sein, dass Sie im Alter so viel Geld haben, damit Sie Ihren Lebensstandard halten knnen. 834809

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button