स्वास्थ्य

कांकेर, महासमुंद, बिलासपुर, दुर्ग, कोरबा और जशपुर में भी अब डायलिसिस सुविधा

स्वास्थ्य मंत्री ने 6 जिला अस्पतालों में किया निःशुल्क डायलिसिस सुविधा का शुभारंभ कोरोना वायरस संक्रमण से बचने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए लोकार्पण

रायपुर, स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए छह जिला चिकित्सालयों में निःशुल्क डायलिसिस सुविधा का शुभारंभ किया। ‘जीवन धारा’ नाम से शुरु हुई इस नई सुविधा के लिए राष्ट्रीय फ्री डायलिसिस कार्यक्रम के तहत जिला अस्पतालों में डायलिसिस मशीनें स्थापित की गई हैं। कांकेर, महासमुंद, दुर्ग, बिलासपुर, कोरबा और जशपुर में डायलिसिस की सुविधा शुरू होने से किडनी रोगों से पीड़ितों को इसके लिए अब दूर नहीं जाना पड़ेगा।
    स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वायरस के प्रकोप और इस संबंध में जारी एडवाइजरी के मद्देनजर सभी छह जिलों में इस सुविधा का शुभारंभ अपने निवास कार्यालय से चुनिंदा विभागीय अधिकारियों की मौजूदगी में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से किया। उद्घाटन के दौरान सभी  जिला अस्पतालों में भी काफी सीमित लोग मौजूद थे। ‘जीवन धारा’ कार्यक्रम के तहत दुर्ग, कांकेर, कोरबा और जशपुर जिला चिकित्सालयों में पांच-पांच यूनिट, बिलासपुर में चार एवं महासमुंद में तीन डायलिसिस यूनिट की स्थापना की गई है। कार्यक्रम के अंतर्गत फेयरफैक्स इंडिया चैरिटेबल फाउंडेशन (ट्रस्ट), मुंबई द्वारा छत्तीसगढ़ में कुल 30 डायलिसिस मशीन निःशुल्क उपलब्ध कराई गई है।
    डायलिसिस सुविधा का लोकार्पण करते हुए स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि किडनी रोगों से ग्रस्त मरीजों को लंबे समय तक बार-बार डायलिसिस कराना पड़ता है। इससे उन पर बड़ा आर्थिक बोझ पड़ता है। डायलिसिस की सुविधा राज्य में कुछ ही शहरों में है। लोगों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत छह जिला चिकित्सालयों में यह निःशुल्क सुविधा शुरू की जा रही है। इससे उन्हें अपने क्षेत्र में ही त्वरित इलाज मिलेगा। आने वाले समय में सभी जिला अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा शुरू की जाएगी।
श्री सिंहदेव ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए चार जिला अस्पतालों में डायलिसिस मशीनों एवं अन्य व्यवस्थाओं का भी अवलोकन किया। ‘जीवन धारा’ कार्यक्रम के अंतर्गत डायलिसिस मशीनों के संचालन के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशानुसार निविदा के माध्यम से एसकैग (ESKAG) संजीवनी प्राइवेट लिमिटेड, कोलकाता का चयन किया गया है। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, विशेष सचिव डॉ. सी.आर. प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला भी मौजूद थीं।

Related Articles

2 Comments

  1. 209772 977700Depending on yourself to make the decisions can truly be upsetting and frustrating. It takes years to build confidence. Frankly it takes a lot more than just happening to happen. 266556

  2. 885098 697377Write more, thats all I have to say. Literally, it seems as though you relied on the video to make your point. You clearly know what youre talking about, why throw away your intelligence on just posting videos to your site when you could be giving us something informative to read? 842686

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button