स्वास्थ्य

कोरोना; पुलिस विदेशी जमात कार्यकर्ताओं के वीजा श्रेणियों की भी जांच करेगी

छत्तीसगढ से भी सौ से ज्यादा शामिल रायपुर,आमतौर पर, भारत आने वाले तब्लीग़ जमात से जुड़े सभी विदेशी नागरिक पर्यटक वीजा पर आते हैं। गृह मंत्रालय द्वारा पूर्व में जारी दिशा-निर्देश के अनुसार जमात के इन विदेशी कार्यकर्ताओं को पर्यटक वीजा पर मिशनरी काम में शामिल नहीं होना चाहिए। इस संबंध में सभी राज्य पुलिस इन सभी विदेशी जमात कार्यकर्ताओं के वीजा की श्रेणियों की जांच करेगी और वीजा शर्तों के उल्लंघन के मामले में आगे की कार्रवाई करेगी। इस कार्यक्रम मेंछत्तीसगढ के 100 से ज्यादा शामिल होने की खबर हैैै।

गृह मंत्रालय ने तेलंगाना में कोरोना पॉजिटिव मामलों के सामने आते ही 21 मार्च, 2020 को सभी राज्यों के साथ भारत में तब्लीग़ जमात कार्यकर्ताओं का विवरण साझा किया था। इस त्वरित कार्रवाई का उद्देश्य कोरोना पॉजिटिव जमात कार्यकर्ताओं की पहचान करना, उन्हें अलग करके क्वारन्टीन करना था, जिससे देश में कोरोना को और फैलने से रोका जा सके। इस संबंध में गृह मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और डीजीपी के साथ-साथ सीपी, दिल्ली को भी निर्देश जारी किए गए थे।  28 और 29 मार्च को भी डीआईबी द्वारा सभी राज्य डीजीपी को इस विषय में पत्र लिखे गए।

इस बीच, दिल्ली के निजामुद्दीन के मरकज़ में रहने वाले जमात कार्यकर्ताओं को भी राज्य के अधिकारियों और पुलिस ने मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए अनुरोध किया।  29 मार्च तक लगभग 162 जमात कार्यकर्ताओं को चिकित्सकीय रूप से जांचा गया और क्वारन्टीन केंद्रों में स्थानांतरित कर दिया गया।  अब तक 1339 जमात कार्यकर्ताओं को एलएनजेपी, आरजीएसएस, जीटीबी, डीडीयू अस्पतालों और ऐम्स, झज्जर के अलावा नरेला, सुल्तानपुरी और बक्करवाला क्वारन्टीन केंद्रों में स्थानांतरित कर दिया गया है।  उनमें से बाकी को वर्तमान में कोरोना संक्रमणों के लिए चिकित्सकीय रूप से जांचा जा रहा है।

 प्रदेश में 69 लोग आइसोलेशन में खबर है कि छत्तीसगढ़ में तबलीगी जमात के 32 सदस्यों को क्वारंटाइन और 69 सदस्यों को आइसोलेशन में रखा गया है । स्वास्थ्य विभाग इन सभी सदस्यों पर कड़ी नजर बनाये हुए हैं । नई दिल्ली में तबलीगी जमात के मरकज में शामिल सदस्यों में कोरोना वायरस पॉजीटिव केस पाये जाने के बाद राज्य सरकार पूरी सतर्कता बरत रही है। मरकज में छत्तीसगढ़ के सौ से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। इन सभी की पहचान कर राज्य सरकार द्वारा चिकित्सा दल से इनका परीक्षण कराया गया है। परीक्षण के आधार पर पूरी सतर्कता बरतते हुए इन्हें क्वारंटाइन और आइसोलेशन में रखा गया है। पृष्ठभूमि तब्लीग़ जमात मुख्यालय (मरकज़) दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित है।  धार्मिक उद्देश्य के लिए देश भर और विदेशों से मुस्लिम मरकज़ जाते हैं।  कुछ लोग तब्लीग़ गतिविधियों के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में समूहों में भी जाते हैं।  यह पूरे वर्ष एक सतत प्रक्रिया है। 21 मार्च को मिशनरी  काम के  लिए लगभग 824 विदेशी तब्लीग़ जमात कार्यकर्ता देश के विभिन्न हिस्सों में थे।  इसके अलावा, लगभग 216 विदेशी नागरिक मरकज़ में रह रहे थे।  इसके अलावा, 1500 से अधिक भारतीय जमात कार्यकर्ता भी मरकज़ में रह रहे थे, जबकि लगभग 2100 भारतीय जमात कार्यकर्ता मिशनरी काम के लिए देश के विभिन्न हिस्सों का दौरा कर रहे थे।  23 मार्च के बाद से, निजामुद्दीन और तब्लीग़ के आस-पास और पूरे दिल्ली सहित आसपास के राज्यों के अधिकारियों/पुलिस द्वारा लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया गया।

Related Articles

One Comment

  1. 811588 711912The electronic cigarette uses a battery and a small heating factor the vaporize the e-liquid. This vapor can then be inhaled and exhaled 351294

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button