स्वास्थ्य

कोरोना; प्रदेश में सेनेटाइजर की कमी नहीं, 59 हजार लीटर उपलब्ध

रायपुर, छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस (कोविड-19) केे संक्रमण से बचाव के लिए पर्याप्त सेनेटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेेल ने प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सेनेटाइजर की बढ़ती मांग को देखते हुए राज्य में संचालित दो डिस्टिरियों को सेनेटाइजर उत्पादन की स्वीकृति प्रदान की थी। जिसके परिणाम स्वरूप आज राज्य में 59 हजार 193 लीटर सेनेटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकी। आज सभी दवाई दुकानों में वाजिब दाम पर सेनेटाइजर उपलब्ध है। दुर्ग जिले के कुम्हारी स्थित छत्तीसगढ़ डिस्टिलरी लिमिटेड द्वारा 21 हजार 800 लीटर सेनेटाइजर का उत्पादन किया गया है। इसी प्रकार मुंगेली जिले के भाटिया वाइन मेरचेंट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा 22 हजार 393 लीटर और बिलासपुर जिले के छेरकाबांधा (कोटा) के वेलकम डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा 15 हजार लीटर सेनेटाइजर का उत्पादन किया गया है।

महिला समूहों ने 2.28 लाख मास्क और 203 लीटर सेनेटाईजर किया तैयार राज्य के 17 जिलों में 578 स्व-सहायता समूह से जुड़ी लगभग 1800 महिलाओं द्वारा मास्क लोगों के लिए सस्ते दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) से जुड़ी इन महिलाओं द्वारा 29 मार्च तक दो लाख 28 हजार मास्क का निर्माण किया गया है, इनमें एक लाख 83 हजार मास्क की बिक्री की जा चुकी है। इन समूहों द्वारा कुल 26 लाख 47 हजार रूपए का मास्क तैयार किया गया है। इसी प्रकार पांच जिलों में 14 स्व-सहायता समूहों द्वारा 97 हजार रूपए के मूल्य का 203 लीटर सेनेटाईजर तैयार किया गया है। महिला समूहों द्वारा तैयार किए गए मास्क और सेनेटाईजर स्वास्थ्य विभाग के अलावा अन्य शासकीय विभागों और स्थानीय बाजारों में बिक्री की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार राजनांदगांव में 76 महिला समूहों द्वारा 36 हजार 586, रायगढ़ में 89 महिला समूहों द्वारा 22 हजार 308, सरगुजा में 53 समूहों द्वारा 24 हजार 300, कबीरधाम में 42 महिला समूहों द्वारा 34 हजार 479, कोरिया में 20 महिला समूहों द्वारा 17 हजार 423, धमतरी में 28 महिला समूहों द्वारा 16 हजार 125, बलौदाबाजार में 25 महिला समूहों द्वारा 6 हजार 250, बस्तर में 12 महिला समूहों द्वारा 16 हजार 790, रायगढ़ 89 महिला समूहों द्वारा 22 हजार 308, गरियाबंद में 40 महिला समूहों द्वारा 13 हजार 437, जांजगीर-चांपा में 20 महिला समूहों द्वारा 9 हजार 866, बालोद में 94 समूहों द्वारा 15 हजार 366, दुर्ग में 19 समूहों द्वारा 3 हजार 200, सुकमा में 19 समूहों द्वारा 1 हजार 918, मुंगेली में 3 समूहों द्वारा 2 हजार 780, कांकेर में 15 समूहों द्वारा 4 हजार 207, बीजापुर में 20 समूहों द्वारा 2 हजार 500 और जशपुर में 3 समूहों द्वारा 780 मास्क तैयार किए गए हैं।
इसी प्रकार 14 महिला समूहों द्वारा 97 हजार 600 रूपए के 203 लीटर सेनेटाईजर का निर्माण किया गया है। इनमें धमतरी, सरगुजा, जांजगीर जिले के एक-एक, बलौदाबाजार जिले के 6 और रायगढ़ जिले की 5 महिला स्व-सहायता शामिल हैं। बलौदाबाजार जिले में समूहों द्वारा 68.7 लीटर और सरगुजा जिले में 90 लीटर, रायगढ़ जिले में 36 लीटर, धमतरी जिले में 5 लीटर और जांगजीर जिले में 4 लीटर सेनेटाईजर का निर्माण किया गया है। 

Related Articles

2 Comments

  1. 419051 668007Youve made various good points there. I did specific search terms about the matter and located mainly individuals will believe your site 190356

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button