स्वास्थ्य

राम-राम, पा-लागी और जोहार हमारी परंपरा, इससे वायरस के खतरे से बचते हैं

हैंड शेक अंग्रेजों की परंपरा, अभिवादन की हमारी परंपरा स्वास्थ्यगत दृष्टिकोण से सुरक्षित, मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ डड़सेना कलार समाज के सम्मेलन में कहा

रायपुर, राम-राम, पा-लागी और जोहार अभिवादन की हमारी परंपराएं हैं जो स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी उपयोगी हैं। कोरोना जैसे वायरस जो हाथों का स्पर्श करने से फैलते हैं उनसे बचने के लिए अभिवादन का यह तरीका बहुत उपयोगी है। हैंड शेक अंग्रेजों की परंपरा है। अपनी परंपरा बहुत समृद्ध है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज दुर्ग जिले के जामगांव एम में आयोजित छत्तीसगढ़ डड़सेना कलार समाज के कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में समाज के भवन के शेड के लिए 10 लाख रुपये देने की घोषणा की।   मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि किसानों को धान खरीदी की शेष राशि 1 अप्रैल से मिलनी आरम्भ हो जाएगी। उन्होंने कहा कि हमने किसानों से वायदा किया था कि 2500 रुपये धान खरीदी का देंगे। इस वायदे को पूरा करने और शेष 685 रुपये की राशि प्रदान करने राजीव गांधी किसान न्याय योजना प्रारंभ की जा रही है। किसानों का हित हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस साल किसानों का 83 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा है। प्रदेश के धान उत्पादक किसानों के हितों को बढ़ावा देने हमने केंद्र से धान से एथेनॉल बनाने की अनुमति चाही है जो अभी तक मिल नहीं सकी है। अनुमति मिल जाती है तो धान का बेहतर मूल्य तो किसानों को मिलेगा ही, बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन भी हो सकेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button