स्वास्थ्य

विदेश से आने वाले सभी लोगों का होगा कोरोना टेस्ट

विदेश से आने वालो का सैंपल संग्रहण कराकर  भिजवाने कलेक्टरों को निर्देश ,एक मार्च के बाद विदेश से छत्तीसगढ़ आने वालों से जानकारी देने स्वास्थ्य सचिव की अपील

रायपुर, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग छत्तीसगढ़ शासन ने एक मार्च के बाद विदेशों से छत्तीसगढ़ आए सभी लोगों को अनिवार्य रूप से कोरोना टेस्ट कराए जाने का निर्णय लिया है। विभाग के सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने सभी जिला कलेक्टरों को इस संबंध में जारी निर्देश में विदेश से आने वाले सभी लोगों का तत्काल सैंपल संग्रहण कर कोरोना वायरस की जांच के लिए अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान रायपुर (एम्स) भिजवाने के निर्देश दिए हैं। एक मार्च के बाद विदेशों से छत्तीसगढ़ राज्य में आने वालों की सूची पहले ही सभी जिलों के कलेक्टर, एसपी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध करायी जा चुकी है।

9 मेंं से 8 मरीज विदेश से लौटे हैं राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने कोविड-19 के संक्रमण पर प्रभावी ढंग से रोक लगाने के उद्देश्य से उन लोगांे से जो एक मार्च के बाद विदेश से छत्तीसगढ़ राज्य में आए है, उनसे संबंधित जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को संपर्क कर अनिवार्य रूप से अपनी विदेश यात्रा की जानकारी देने की अपील की है। सचिव श्रीमती सिंह ने कहा है कि कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए यह जरूरी है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना से पीड़ित मिले अब तक 9 मरीजों में से 8 मरीज ऐसे है, जो विदेश यात्रा से लौटे है। इसको देखते हुए यह जरूरी हो गया है कि बीते एक माह के दौरान जितने लोगों ने विदेश यात्रा की है, उन्हें कोरोना से ग्रसित होने की संभावना को देखते हुए उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए।
2085 लोग विदेश से आए छत्तीसगढ़ सचिव श्रीमती सिंह ने इस संक्रामक बीमारी की रोकथाम जानकारी देकर ही की जा सकती है। जानकारी छुपाने से संक्रमण बढ़ने और अपने परिजनों एवं पड़ोसियों की जान को खतरे में डालना है। उन्होंने कहा है कि बीते एक माह के दौरान विदेश से छत्तीसगढ़ राज्य में आने वाले लोगों की पहचान लगातार की जा रही है। विदेश यात्रा करने वालों की लिस्ट भी विभाग ने तैयार कर संबंधित जिलों के कलेक्टर, एसपी एवं सीएमएचओ को भेजकर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करायी जा रही है। इसके बावजूद भी कई ऐसे लोग है, जो इस सूची से छूट गए है। उन्होंने ऐसे छूटे लोगों से तत्काल अपने जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जानकारी देकर अपने साथ-साथ अपने परिजनों एवं आसपड़ोस के लोगों को इस महामारी से ग्रसित होने से बचा सकते है। श्रीमती सिंह ने कहा है कि एक मार्च के बाद विदेशों से छत्तीसगढ़ राज्य में आने वालों की संख्या 2085 है। जिसकी जिलेवार सूची तैयार कर कलेक्टर, एसपी एवं सीएमएचओ को भेज दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button