व्यापार-उद्योग

IRCTC ने पर्यटकों को दी खुशखबरी, देशभर में शुरू करेगा बजट होटल का नेटवर्क

नईदिल्ली, पर्यटकों के सैर-सपाटे को सुविधाजनक और आसन बनाने के लिए आईआरसीटीसी हमेशा कुछ नई योजना तैयार करती रहती है। इसी कड़ी में अब IRCTC पर्यटकों को ट्रेन टिकट के साथ बेहतर स्थान पर ठहरने के लिए देश भर में budget hotel का एक नेटवर्क बनाने की योजना बना रहा है। मिली जानकारी के मुताबिर इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) भारत के हर राज्य में बजट होटल का नेटवर्क बनाने और संचालित करने की योजना तैयार कर रहा है। IRCTC विशेषकर ऐसे राज्यों पर फोकस कर रही है, जिन राज्यों में पर्यटकों की संख्या बहुत ज्यादा होती है। IRCTC ने कहा कि इस योजना के पहले चरण के तौर पर करीब 500 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

राज्य सरकारों की भी ले रहे मदद

गौरतलब है कि IRCTC एक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है, जो भारतीय रेलवे के लिए टिकट, भोजन और यात्रा सेवाएं प्रदान करता है। देशभर में बजट होटल का नेटवर्क खड़ा करने के लिए अब IRCTC राज्य सरकारों की भी मदद ले रही है। राज्य सरकारों को प्रोजेक्ट से जुड़े कई प्रस्ताव भी भेजे जा चुके हैं। IRCTC उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तराखंड की सरकारों के साथ बातचीत कर रही है। नागालैंड, अरुणाचल, असम की सरकारों से भी संपर्क किया गया है और जल्द ही अंतिम निर्णय पर पहुंचा जा सकता है।

इन शहरों में पहले होगी बजट होटल की शुरुआत

IRCTC के बजट होटल का यह प्रोजेक्ट कोहिमा में अपने एडवांस स्टेज पर है और जल्द ही यह प्रोजेक्ट पूरा होने वाला है। वहीं दूसरी ओर ऐतिहासिक धरोहर का शहर खजुराहो में IRCTC का बजट होटल प्रोजेक्ट जनवरी 2023 तक पूरा हो सकता है। गुजरात के केवड़िया में भी बजट होटल के निर्माण का काम चल रहा है। उत्तर प्रदेश के लखनऊ, बनारस और अयोध्या में बजट होटल बनाने का काम चल रहा है। मध्यप्रदेश में भोपाल, उज्जैन में बजट होटल बनाने का प्रस्ताव भी भेजा है।

होटलों का अधिग्रहण करेगी IRCTC

IRCTC पर्यटन कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए जल्द ही होटलों के अधिग्रहण की योजना पर भी काम कर रही है। IRCTC ने फिलहाल पुरी, रांची, नई दिल्ली, हावड़ा और कटरा में कुछ होटलों का अधिग्रहण किया है। IRCTC की इस योजना से भारत में होटल और पर्यटन उद्योग को बढ़ावा मिलेगा और देश में बजट होटलों के लिए बहुत बड़ा अवसर है।

Related Articles

Back to top button