कानून-व्यवस्था

मंत्री श्रीमती भेंडि़या के साथ राजधानी में महिलाओं ने किया पॉवर वॉक

सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं की सुरक्षित और सशक्त उपस्थिति के लिए बढ़े कदम

रायपुर, महिला एवं बाल विकास मंत्री तथा छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती अनिला भेंडिया के साथ हजारों महिलाओं ने राजधानी में सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं की सुरक्षित और सशक्त उपस्थिति के लिए रात 8 बजे एक साथ कदम बढ़ाए। श्रीमती भेंडि़या ने हरी झण्डी दिखाकर रायपुर के मरीन ड्राईव से गुरू घासीदास संग्रहालय तक पॉवर वॉक का शुभारंभ किया। श्रीमती भेंडि़या की अध्यक्षता में रात में महिलाओं की उपस्थिति को सामान्य बनाने तथा लोगों को सड़क पर महिलाओं की सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से किशोरियां और महिलाएं सड़क पर निकली। पॉवर वॉक के माध्यम से समाज में व्यापक स्तर पर एक प्रगतिशील मानसिकता लाने के साथ-साथ पीडि़ताओं के आत्म-दोष की मानसिकता को मिटाने का प्रयास किया गया। पॉवर वॉक का आयोजन राष्ट्रीय तथा छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग द्वारा किया गया। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय महिला आयोग के निर्देशानुसार एक मार्च को देश में पहली बार हर राज्य मुख्यालय में महिलाओं का ’पॉवर वॉक’ आयोजित किया गया है।

    श्रीमती भेंडि़या ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि अपने बुलंद इरादों से महिलाएं एक नया इतिहास लिख सकती हैं। महिलाओं को अबला नहीं अब सबला बनकर दिखाना है। सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं का उतना ही अधिकार है जितना पुरूषों का है। प्रगतिशील समाज के निर्माण में महिलाओं का यह पॉवर वॉक बड़ा कदम साबित होगा। उन्होंने समाज से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने, उनकी रक्षा और गरिमा को बनाए रखने के लिए आव्हान किया। श्रीमती भेंडि़या ने कहा कि महिलाएं सुरक्षा के लिए खुद को तैयार करें। महिलाओं को अपने अधिकारों, हक और सुरक्षा के लिए खुद लड़ना होगा। उन्होंने कहा कि पुरूष वर्ग भी बेटियों, बहनों और माताओं के मान-सम्मान के लिए सहयोग करें। पॉवर वॉक के समापन पर श्रीमती भेंडि़या ने महिला संगठनों को सम्मानित किया।
    इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में महिलाओं को सायबर विशेषज्ञ सुश्री मोनाली गुहा ने महिलाओं से संबंधित सायबर अपराधों और उनसे बचाव की जानकारी दी। महिलाओं को योग के माध्यम से शारीरिक और मानसिक रूप से सशक्त बनने के बारे में बताया गया। कराटे एकेडमी ने महिलाओं को विपरीत परिस्थितियों में आत्मरक्षा की तकनीक सिखायी। महिलाओं को बताया गया कि अपने पास मौजूद चीजों से अपनी और दूसरों की रक्षा कैसे करें। पॉवर वॉक के समापन पर महिला जागरूकता से संबंधित फिल्म भी दिखाई गई। इस अवसर पर राज्य महिला आयोग की सदस्य श्रीमती खिलेश्वरी किरण, महिला एवं बाल विकास के संचालक जन्मेजय महोबे और उनकी पत्नी श्रीमती शीतल महोबे, महिला एवं बाल विकास के अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थीं।

Related Articles

One Comment

  1. 19983 564200Numerous thanks for this particular info I was basically browsing all Search engines to discover it! 775724

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button