कानून-व्यवस्था

नक्सलवाद;सीतागांव और मदनवाड़ा थानों के पास नक्सलियों ने फेंके पर्चे

राजनांदगांव, मोहला ब्लॉक के पारवीडीह गांव में सड़क निर्माण में लगे वाहनों को आग के हवाले कर अपनी मौजूदगी दर्ज कराने वाले नक्सलियों ने अब पोस्टर लगाकर दहशत फैलानी की कोशिश की है। नक्सलियों ने गुरु-शुक्र की दरमियानी रात मानपुर-औंधी के बीच सीतागांव और मदनवाड़ा थाना के आसपास पर्चें फेंककर ग्रामीणों में दहशत बढ़ा दी है। एक दिन पहले ही मदनवाड़ा के सहपाल गांव के रास्ते पर कथित नक्सलियों ने पेड़ गिराकर रोड जाम कर दिया था। वनांचल में लगातार नक्सलियों की सक्रियता सामने आने से पुलिस भी नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अलर्ट हो गई है। मानपुर एसडीओपी रमेश ऐरेवार ने बताया कि रेतेगांव के आसपास पर्चें मिले हैं। पेड़ गिराकर रास्ता जाम करने का काम नक्सलियों का नहीं है। किसी शरारती लोगों ने इसे किया है। पर्चा आरकेबीडी यानी राजनांदगांव-कांकेर बार्डर डिवीजन के हवाले पर है। मामले की जांच कराई जा रही है। पर्चें में नक्सलियों ने 21 से 27 सितंबर तक संगठन की 16वीं वर्षगांठ हर गांव में मनाने की अपील की है। इस बीच नक्सलियों ने मोहला के पारवीडीह में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्माणाधीन रोड में लगे पांच वाहनों को आग में फूंक दिया था। इसकी दहशत कम ही नहीं हुई है और नक्सलियों ने सीतागांव व मदनवाड़ा थाना के आसपास पर्चे फेंककर फिर दहशत बढ़ा दी है। हालांकि पुलिस ने कहा कि पर्चें थानों से काफी दूर मिले हैं।  प्रभावित गांवों में बढ़ी दहशत लंबे समय से खामोश नक्सली गतिविधियां अब इस क्षेत्र में फिर बढ़ने लगी है, जिसको लेकर प्रभावित गांवों में दहशत बढ़ गई है। बीती रात नक्सलियों ने रेतेगांव और कारेकट्टा गांव के बीच पर्चा फेंककर विरोध दर्ज कराया है। यहां से मदनवाड़ा थाना की दूरी महज पांच किमी ही है। सड़कों पर नक्सलियों ने बड़ी संख्या में पर्चे फेंके हैं। सीतागांव भी पर्चा मिलने वाली जगह से लगा हुआ है। दोनों थाना की सीमाओं के बीच गांवों में पर्चें फेंकने से ग्रामीण सकते में आ गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button