कानून-व्यवस्था

जिला पंचायत के 12 क्लोन चेक से 11.76 लाख रु. पार, 12 फरवरी से 6 मार्च 2021 के बीच की घटना

रायपुर, बैंक ऑफ बड़ौदा में जिला पंचायत के चेक का क्लोन जमा कर जालसाजों ने 11 लाख 76 हजार निकाल लिए। ठगों ने पिछले साल 2021 में 12 फरवरी से 6 मार्च के बीच एक-दो नहीं 12 अलग-अलग चेक के क्लोन यानी फर्जी चेक जमा कर थोड़े थोड़े पैसे निकाले गए ताकि बैंक वालों को किसी तरह का शक न हो। चौंकाने वाली बात है कि फर्जी चेक से पैसे निकलते रहे लेकिन जिला पंचायत के अफसरों को भनक नहीं लगी। इसका खुलासा कैग की रिपोर्ट में हुआ। अब इस खुलासे के बाद पूरे विभाग में हड़कंप मचा है। प्रारंभिक जांच के बाद आनन-फानन में पुलिस में शिकायत कर दी गई है।

महालेखाकार कैग की ऑडिट रिपोर्ट में बताया गया है कि जिला पंचायत के चेक से जो रकम निकली है, उससे विभागीय तौर पर किसी को भुगतान नहीं किया गया है। पैसे व्यक्तिगत तौर से खाते से निकाले गए हैं। चेक से जो रकम निकाली गई है, उसके आहरण की इंट्री तक नहीं की गई है। इसके पहले मंडी बोर्ड और कोरिया कलेक्टोरेट में भी सरकारी पैसे फर्जी तरीके से निकाले जा चुके हैं। कैग की रिपोर्ट के बाद से अफसर हरकत में आए।

बड़ी रकम नहीं निकलने से अफसरों ने ध्यान नहीं दिया
क्लोन चेक से रकम निकालने वाले इस बात को जानते थे कि ज्यादा रकम निकाली तो अफसरों को पता चल जाएगा। इसलिए फरवरी-मार्च केवल 2 महीने तक ही 12 चेक से पैसे निकाले गए। उसके बाद कैश निकालना बंद कर दिया। उसके बाद से अभी तक एक भी क्लोनिंग चेक बैंक खाते में जमा नहीं किया गया। बड़ी रकम नहीं निकलने की वजह से किसी भी अफसरों का ध्यान इस ओर नहीं गया।

मंडी बोर्ड फर्जीवाड़ा के बाद भी नहीं जागे
मंडी बोर्ड की 30 करोड़ से ज्यादा की रकम एक्सिस बैंक के खाते में जमा की गई और जालसाजों ने वहां से करीब 16 करोड़ की रकम उड़ा दी। जालसाजों के बीच आपसी विवाद के बाद ही मामला फूटा। वहां भी विभाग के खाते से रकम निकलती जा रही थी लेकिन अफसरों को पता नहीं चला। बड़ा मामला खुलने के बावजूद सरकारी विभाग अभी भी अलर्ट नहीं हो रहे हैं। वित्तीय लेन-देन को लेकर कोई सिक्यूरिटी नहीं की जा रही है।

Related Articles

Back to top button