कानून-व्यवस्था

संविधान में मौलिक अधिकार नागरिकों की जिम्मेदारियां; कृषि महाविद्यालय नारायणपुर में मना संविधान दिवस

नारायणपुर, कृषि महाविद्यालय एवम अनुसंधान केंद्र, नारायणपुर परिसर में ‘संविधान दिवस’ के  अवसर पर  राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। डॉ. रत्ना नशीने द्वारा दीप प्रज्वलन एवम डॉ. बी आर अम्बेडकर की छायाचित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। 

इसके उपरांत “भारत : लोकतंत्र की जननी” विषय पर आयोजित व्याख्यान में महाविद्यालय की अधिष्ठता एवम राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी डॉ. रत्ना नाशीने ने संविधान का महत्त्व बताते हुए कहा कि डॉ. बी आर अम्बेडकर को भारत के संविधान का मुख्य वास्तुकार एवं भारतीय संविधान का जनक कहते है। संविधान सभा ने देश को एक ऐसा कल्पनाशील दस्तावेज़ दिया, जिसमें राष्ट्रीय एकता को बनाए रखते हुए विविधता के प्रति गहरा सम्मान दिखाई देता है। भारत का संविधान भारत को संप्रभु, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी, लोकतांत्रिक गणतंत्र घोषित करता है और अपने नागरिकों के लिए समानता, स्वतंत्रता और न्याय का आधार देता है और संविधान के मूल्यों की रक्षा करना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने आगे कहा कि संविधान में मौलिक अधिकार नागरिकों की जिम्मेदारियां हैं और  मौलिक कर्तव्य हमें हमारे दायित्वों की याद दिलाते हैं जिन्हें नागरिकों को अत्यंत समर्पण और सच्ची ईमानदारी के साथ पूरा करना चाहिए। 

डॉ. अनिल दिव्य द्वारा सभी अधिकारियों, कर्मचारियों व विद्यार्थियों को भारतीय संविधान के प्रस्तावना का वाचन किया गया और संविधान को सर्वोपरि और सभी नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक नये, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धार्मिक स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा, राष्ट्र की एकता व अखंडता सुनिश्चित करने एवं बंधुत्व के भावना की शपथ दिलाई। किशोर मण्डल ने कहा कि छात्रों को अपने दायित्वों व कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए जिससे एक अच्छे, सुदृढ़ नागरिक बनकर राष्ट्र निर्माण मे सहयोग करना चाहिए। श्री सूर्यकान्त चौबे ने कहा कि संविधान वह आधार स्तम्भ है जो हमे मौलिक अधिकारों व कर्तव्यों की याद दिलाता है, अतः हमें ईमानदारी व समर्पण के साथ कर्तव्यों का पालन करके राष्ट्रहित और राष्ट्रनिर्माण मे सहयोगी बनना चाहिए।

संविधान दिवस के अवसर पर महाविद्यालय में क्विज़, भाषण एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया जिसमे खुशी मींज, वीर नारायण देवांगन, रश्मि बघेल, अंगद राज बग्गा, कीर्ति साहू इत्यादि स्वयंसेवको के द्वारा सक्रिय रूप से भाग लिया गया।  कार्यक्रम का आयोजन अधिष्ठता एवम राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी डॉ.  रत्ना नशीने के मार्गदर्शन में किया गया। अध्यापक डॉ. अनिल दिव्या, डॉ. अनिमेष चंद्रवशी, किशोर मण्डल, डॉ. कृष्ण गुप्ता, सूर्यकान्त चौबे  उपस्थित रहे । स्वयंसेवक अंगद राज बग्गा एवं कीर्ति साहू ने कार्यक्रम का संचालन एवं आभार व्यक्त किया।

Related Articles

Back to top button