कानून-व्यवस्था

अब पड़ोसी राज्यों के साथ नक्सलियों के खिलाफ ज्वाइंट आपरेशन की तैयारी

रायपुर ,  छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ अब पड़ोसी राज्यों के साथ ज्वाइंट आपरेशन चलेगा। पुलिस मुख्यालय में डीजीपी अशोक जुनेजा की अध्यक्षता में ओडिशा के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक हुई। इसमें नक्सलियों की सप्लाई लाइन तोड़ने के लिए गुप्त सूचना के आदान प्रदान पर सहमति बनी है। छत्तीसगढ़ और ओडिशा राज्य के सीमावर्ती नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा बल की ओर से संयुक्त आपरेशन चलाने की नई रूपरेखा पर चर्चा हुई।

दरअसल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ के बार्डर क्षेत्र में नक्सली सिमट गए हैं। अब दोनों राज्यों के पुलिस अधिकारी गुप्त सूचनाओं को साझा करेंगे। इसके साथ ही नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में दोनों राज्यों में सुरक्षा बलों के कैंप तथा पुलिस स्टेशनों के बीच समन्वय स्थापित किया जाएगा। नक्सलियों के सीमा पार करने वाले आवागमन मार्गों पर संयुक्त रूप से निगरानी की जाएगी।

डीजीपी अशोक जुनेजा ने बताया कि आला अधिकारियों के साथ हुई बैठक में नक्सलियों के लिए सामग्रियों की आपूर्ति लाइन को रोकने की रणनीति पर भी विचार किया गया। दोनों राज्यों की सीमा पर स्थित ग्रामीण क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने पर विशेष ध्यान दिया गया। बैठक में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के विशेष महानिदेशक, सीमा सुरक्षा बल के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, केंद्रीय गृह मंत्रालय भारत सरकार के अधिकारी और छत्तीसगढ़-ओडिशा राज्यों के नक्सल आपरेशन से जुड़े वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से उप पुलिस महानिरीक्षक दंतेवाड़ा, कांकेर, कोरापुट (ओडिशा) और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बस्तर, पुलिस अधीक्षक सुकमा, कोंडागांव, महासमुंद, कोरापुट, मलकानगिरी, नवरंगपुर जुड़े थे।

Related Articles

Back to top button