कानून-व्यवस्था

नकली सोना लेकर बैंक को ठगने पहुंचा जालसाज अंदर; जांच हुई तो खुल गया पोल; पहले ऐसे ही 48 लाख ले चुका था

दुर्ग, राजनांदगांव का एक व्यापारी नकली सोना को असली बताकर भिलाई के एक बैंक से गोल्ड लोन लेने पहुंचा। बैंक मैनेजर ने जब उसके सोने की जांच कराई तो वह नकली निकला। इसी दौरान उसे पता चला कि वह पहले भी राजनांदगांव की शाखा से नकली सोना रखकर गोल्ड लोन ले चुका है। इसके बाद बैंक मैनेजर ने इसकी शिकायत अंजोरा थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है।

भिलाई के रामनगर वार्ड 11 निवासी हरजोत सिंह ICICI बैंक की अंजोरा शाखा में मैनेजर है। उसने शिकायत दर्ज कराई है कि 13 जुलाई को उसकी शाखा में एक आदमी आया था। उसने अपना आप को चाल नंदन कुंआ वार्ड 31 राजनांदगांव निवासी राजेश लुनिया पिता सुरेशचंद्र लुनिया बताया। उसने गोल्ड लोन के रूप में 13 लाख रुपए लेने की बात कही। मैनेजर ने उसका पता देखकर उसे राजनांदगांव में आईसीआईसीआई बैंक की गंज चौक शाखा जाने को कहा गया। इस पर व्यापारी ने कहा कि वह गंज चौक शाखा गया था। वहां सर्वर डाउन होने के चलते उसे यहां भेजा गया है।
इस तरह पकड़ा गया ठग
राजेश लुनिया ने बैंक मैनेजर से कहा कि उसके पास 400 ग्राम गोल्ड ज्वेलरी है। उस पर वो लोन लेना चाहता है। बैंक मैनेजर ने ठग का सोना देखा तो उसे संदेह हुआ। बैंक मैनेजर ने कंगना ज्वेलर्स के संचालक रितेश कुमार सोनी को बैंक बुलाया। सोनार ने जब गोल्ड ज्वेलरी चेक किया तो उसे नकली बताया। इसके बाद बैंक मैनेजर हरजोत सिंह ने राजनांदगांव के बैंक मैनेजर को फोन कर ठग के बारे में जानकारी दी। फोन करने पर राजनांदगांव के बैंक मैनेजर ने हरजोत को बताया कि आरोपी राजेश लुनिया 27, 28 अप्रैल और 28 जून को गोल्ड रखकर 48 लाख 9 हजार 984 रुपए का गोल्ड लोन ले चुका है। जब उस गोल्ड की जांच कराई गई तो वह नकली पाया गया था।

Related Articles

Back to top button