विधान सभा

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में मिलेगी किसानों को अंतर की राशि


दो किस्त्तो मेे मिलेगी अंंतर की राशि, किसानों को धान का 2500 रूपए क्विंटल मिलेगा दाम
किसानों से 355 रूपए प्रति क्विंटल की दर परहोगी गन्ने की खरीदी अवैध शराब की बिक्री के लिए जिले के पुलिस अधीक्षक होंगे जिम्मेदार भूतपूर्व विधायकों की पेंशन 35 हजार रूपए करने की घोषणा विधायकों की बढ़ी जनसंपर्क निधि एक अप्रैल से होगी लागू मुख्यमंत्री ने सदन में वित्तीय वर्ष 2020-21 के आय-व्ययक पर सामान्य चर्चा का दिया जवाब

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2020-21 के आय-व्ययक पर सामान्य चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि राज्य सरकार किसानों से 355 रूपए प्रति क्विंटल की दर पर गन्ना खरीदेगी। उन्होंने दोहराया कि किसानों को धान का 2500 रूपए प्रति क्विंटल दाम मिलेगा। बजट में घोषित की गई कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना में किसानों को समर्थन मूल्य और 2500 रूपए के अंतर की राशि दी जाएगी। अर्पैल एव जुलाई में एक- एक किस्त का भुगतान होगा।

श्री बघेल ने कहा कि किसानों की कर्ज माफी और 2500 रूपए पर धान खरीदी से छत्तीसगढ़ का किसान मजबूत हुआ। देश में यह पहली बार हुआ कि ढाई लाख से अधिक किसान छत्तीसगढ़ में खेती की ओर लौटे। जब किसान मजबूत होंगे तो गांव, राज्य और देश भी मजबूत होगा। उन्होंने केन्द्र सरकार से धान से इथेनॉल के उत्पादन के लिए संयंत्र स्थापना की अनुमति प्रदान करने का आग्रह दोहराते हुए कहा कि यदि अनुमति मिलती है तो किसानों को धान की अच्छी कीमत मिलेगी। पेट्रोलियम ईंधन में खर्च होने वाले पेट्रोडॉलर की बचत होगी। ऐसा होता है तो यह पूरे देश के किसानों के लिए एक नजीर बनेगा। श्री बघेल ने शक्कर कारखानों में उत्पादित शक्कर की खरीदी पर केन्द्र द्वारा लगाए गए कैप (शक्कर खरीदी की मात्रा) हटाने या गन्ने से एथेनॉल बनाने की अनुमति देने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से नए-नए उद्योग खुलेंगे।         

  मुख्यमंत्री ने कहा कि पशुपालन आज छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरे देश में अनार्थिक हो गया है। कृषि और पशुपालन को लाभप्रद बनाने के लिए नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी योजना के माध्यम से हमारे पुरखों की परम्परा को पुनर्जीवित कर व्यवस्थित करना होगा। गौठान प्रबंधन समितियों को 10 हजार रूपए प्रति माह दिए जाएंगे। जिससे चरवाहे के मानदेय की व्यवस्था की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि गौठानों में पशुओं के एक स्थान पर रहने से फेंसिंग का खर्च बचेगा। किसानों के लिए दूसरी फसल लेना आसान होगा। श्री बघेल ने बजट में घोषित नई सिंचाई योजनाओं के संबंध में कहा कि बोधघाट परियोजना बिजली के लिए नहीं, बल्कि सिंचाई सुविधा में विस्तार के लिए होगी। बस्तर और सरगुजा में जहां सिंचाई का प्रतिशत शून्य से पांच प्रतिशत है वहां सिंचाई सुविधाएं बढ़ाने के लिए नई परियोजनाओं को प्रारंभ किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने अवैध शराब की बिक्री रोकने के संबंध में कहा कि यदि किसी जिले में अवैध शराब की बिक्री होती है तो इसके लिए जिले के पुलिस अधीक्षक जिम्मेदार होंगे। उन्होंने बजट में शिक्षा कर्मियों के संविलियन के फैसले का उल्लेख करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मी शब्द अब इतिहास का हिस्सा हो गया।   

   मुख्यमंत्री श्री बघेल ने भूतपूर्व विधायकों की पेंशन 20 हजार रूपए से बढ़ाकर 35 हजार रूपए करने की सदन में घोषणा की। उन्होंने कहा कि भूतपूर्व विधायकों को रेल्वे कूपन, हवाई यात्रा के साथ बोर्डिंग की सुविधा भी मिलेगी। भूतपूर्व विधायकों के लिए इसकी सीमा दो लाख रूपए से बढ़ाकर चार लाख रूपए करने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह उन्होंने कुटुम्ब पेंशन की राशि 10 हजार रूपए से बढ़ाकर 25 हजार रूपए करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने विधानसभा के सदस्यों के वेतन, रेल्वे कूपन हवाई यात्रा की सीमा चार लाख रूपए से बढ़ाकर आठ लाख रूपए करने की घोषणा करते हुए कहा कि विधानसभा सदस्यों को अब बोर्डिंग की सुविधा भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि विधायकों की जनसंपर्क निधि की राशि बढ़ाने की घोषणा पूर्व में की गई है वह आगामी एक अप्रैल से लागू होगी।  

छापे में सामान्य प्रक्रिया का पालन नहीं ,मीडिया भी संयम बरते हाल के आयकर छापों के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका हम विरोध नहीं करते यह एक सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन जब भी आयकर के छापे पड़ते हैं तो इसकी सूचना संबंधित जिले के एसपी को देकर फोर्स ली जाती है, ताकि अधिकारियों को दुर्व्यवहार का सामना ना करना पड़े। हाल ही छापों के समय ना तो एसपी को कोई सूचना दी गई ना ही पुलिस महानिदेशक के पास इसकी कोई जानकारी थी। आयकर अधिकारियों ने सीआरपीएफ की फोर्स लेकर कार्रवाई की जो उचित नहीं था। छत्तीसगढ़ एक नक्सल प्रभावित राज्य है। यहां नक्सली भी वर्दी पहनकर घूमते हैं।            मुख्यमंत्री ने मीडिया से ऐसे मौकों पर संयम बरतने का निवेदन करते हुए कहा कि छापों की रिपोर्टिंग में ऐसे लोगों के नाम भी आए जिनके यहां छापा नहीं पड़ा। फ्रंट पेज पर खबर छपने से ईमानदार अधिकारी की छवि को नुकसान पहुंचा। उन्होंने कहा कि मनोहर कहानी या जेम्स हेडली चेज की कहानियों की तरह खबरों को सनसनी खेज ना बनाकर संतुलित और तथ्यों के आधार पर रिपोर्टिंग की जानी चाहिए।

       

Related Articles

One Comment

  1. 990073 45094Possible demand all types of led tourdates with some other fancy car applications. A lot of also give historic packs and other requires to order take into your lending center, and for a holiday in upstate New York. ??? 70336

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button