राजनीति

कांग्रेस ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपकर खत्म किया प्रदर्शन; CM बघेल बोले- हम जनता की आवाज उठाते हैं, इसलिए परेशान किया जाता है

रायपुर, छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कांग्रेस ने अपना विरोध प्रदर्शन किया। देश में बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस ने सड़क पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदेश भर के अलग-अलग जिलों से आए जिला स्तर के नेताओं के अलावा प्रदेश कांग्रेस के तमाम नेता इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।अंबेडकर चौक में धरना देने के बाद प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम समेत कुछ कांग्रेस नेताओं का प्रतिनिधिमंडल राज भवन में राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपकर धरना प्रदर्शन का समापन किया।

दरअसल यह विरोध प्रदर्शन पूरे देश में किया जा रहा है। जिसमें छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेता भी इस प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अंबेडकर प्रतिमा के पास धरना दिया उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश में महंगाई बेरोजगारी बेतहाशा बढ़ रही है। इस पर केंद्र सरकार का किसी भी तरह से नियंत्रण नहीं है। आज पूरे देश में इस मुद्दे पर कांग्रेस विरोध कर रही है। लोकसभा से लेकर राज्यसभा तक इन मुद्दों को उठाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगे कहा कि हम जितना जनता से जुड़े मुद्दों को उठाते हैं हमें उतना परेशान किया जाता है । मगर हम डरने और पीछे हटने वाले लोगों में से नहीं है। आज खाद्य पदार्थों में जीएसटी लगा दी गई है। अग्निपथ योजना से युवाओं का भविष्य अधर में है।हम राजभवन तक पैदल मार्च करेंगे, और राष्ट्रपति के नाम राज्यपाल को ज्ञापन सौंपेंगे।

महंगाई से देश पर असर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ गए तो ट्रांसपोर्टेशन का भी दाम बढ़ जाता है, ट्रैक्टर भी डीजल से चलता है। खेती किसानी के काम भी महंगे हो गए। कभी 30 पैसा कभी 85 पैसा इस तरह से रोज पेट्रोल के भाव बढ़ रहे हैं। आम आदमी का घर चलाना मुश्किल हो रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगे कहा कि यह जो महंगाई बढ़ रही है इसका पैसा किसकी जेब से जा रहा है, व्यापारी, गृहणी, किसान मजदूर यह सब लोग मेहनत कर रहे हैं और मोदी सरकार ने ऐसा सिस्टम बनाया है कि लोगों की जेब से पैसा मोदी सरकार के पास चला जा रहा है।

राष्ट्रपति से कांग्रेस की गुहार

कांग्रेसी नेताओं ने एक ज्ञापन राष्ट्रपति के नाम तैयार किया है। राष्ट्रपति द्रोपति मुर्मू से कांग्रेस अपने इस विरोध प्रदर्शन के जरिए मांग कर रही है कि, महंगाई कम करने,खाद्य पदार्थों पर लगे जीएसटी को समाप्त करने और अग्निपथ योजना जैसे स्कीम्स को वापस ली जाए।

Related Articles

Back to top button