ग्रामिण विकास

बस्तर मे नये विकास और शांति का प्रतीक बनेगा ’लिंगोदेव पथ’

मर्दापाल से खालेमुरवेण्ड तक 150 कि. मी. लिंगोदेव पथ में बाईक रैली का हुआ आयोजन

रायपुर, कोण्डागांव जिले के बहुप्रतिक्षित मर्दापाल से खालेमुरवेण्ड तक 150 किलोमीटर नवनिर्मित सड़क के लोकार्पण उत्सव में आयोजित बाईक रैली का शुभारंभ प्रदेश के उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने हरी झण्डी दिखाकर किया। इस ऐतिहासिक क्षणों का साक्षी बनने के लिए बस्तर सांसद दीपक बैज, कोण्डागांव विधायक मोहन मरकाम, विधायक नारायणपुर चन्दन कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष देवचन्द मातलाम, बस्तर आईजी पी सुन्दरराजन, कलेक्टर नीलकण्ठ टीेकाम, पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार सहित सभी विभागो के जिला प्रमुख अधिकारी, कर्मचारी ग्रामीण मौजूद थे।
 इस मौके पर मंत्री श्री लखमा ने ग्रामीणों और रैली मे भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि लिंगोदेव पथ का लोकार्पण राज्य शासन के अथक प्रयासो का परिणाम है। नवनिर्मित यह मार्ग बस्तर मे विकास एवं शांति का एक नए युग का सूत्रपात करेगा। इस मार्ग के बनने से क्षेत्र मे विकास की असीम संभावनाएं बढ़ेगीं और दशको से अलग-थलग पड़े ग्रामो का उद्धार होगा। इसके लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि ग्रामीण और जिला प्रशासन साधुवाद के पात्र है जिन्होंने सार्थक प्रयास कर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया। पिछड़े क्षेत्रो का सतत् विकास शासन का मूलमंत्र है और रहेगा।

लिंगोदेव पथ’’ मार्ग लाएगा विकास की बयार – मोहन मरकाम
इस अवसर पर विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि वर्षो से रोड कनेक्टिविटी के अभाव में इस क्षेत्र में आतंक का माहौल था जिसके चलते बाहरी दुनिया तो क्या स्थानीय ग्रामीण अधिकारी-कर्मचारी भी इन क्षेत्रों में आने से कतराते थे। परंतु अब राज्य शासन के नई नीतियो की बदौलत अब यहां बदलाव का दौर प्रारंभ हो गया है। इस 150 किलोमीटर नवनिर्मित सड़क के निर्माण से क्षेत्र के 180 ग्राम सीधे मुख्यमार्ग से जुड़ जाएंगे और लगभग एक लाख की जनसंख्या इससे लाभान्वित होगी।

दंतेवाड़ा से सीधे कांकेर जिले तक एक समान्तर सड़क इसके पूर्व ग्राम मर्दापाल के पंचायत भवन मे आयोजित इस कार्यक्रम मे स्थानीय ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा करके बाईक रैली मे शामिल होने वाले सभी प्रतिभागियों का अभूतपूर्व अभिनदंन किया और लोक नर्तक दलों के नृत्य और गायन से समुचा माहौल एक उत्सव के रूप मे बदल दिया। कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम ने इस मौके पर बताया कि लिंगोदेव स्थानीय आदिवासियो के आराध्य देव कह है अतः ग्राम मर्दापाल से खालेमुरवेण्ड तक इस 150 कि0मी0 तक सड़क को इस आराध्य देव को समर्पित किया गया है। आने वाले समय मे यह क्षेत्र जिला दंतेवाड़ा से सीधे कांकेर जिले तक एक समान्तर सड़क के रूप मे विकसित हो जायेगा और क्षेत्र की भूराजनैतिक सुरक्षा और अर्थव्यवस्था को नया आयाम प्राप्त होगा इसके अलाव इस क्षेत्र मे छठवीं और सातवी शताब्दी की सांस्कृतिक और ऐतिहासिक धरोंहरे भी है। इस सबकी विरासत को सहेजने और पर्यटन क्षेत्र के रूप में लिंगोदेव मार्ग की एक बड़ी भूमिका होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button