खेल

भारत की विमेंस क्रिकेट टीम ने रचा इतिहास;सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 4 रन से हराया, स्मृति मंधाना और स्नेह राणा बनीं जीत की स्टार

बर्मिंघम, भारतीय विमेंस क्रिकेट टीम ने कॉमनवेल्थ गेम्स में इतिहास रच दिया है। भारत ने सेमीफाइनल मुकाबले में इंग्लैंड को 4 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। कॉमनवेल्थ गेम्स में पहली बार विमेंस क्रिकेट को शामिल किया गया और भारतीय टीम ने पहले ही अटैम्प्ट में फाइनल में जगह बना ली है।

टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 164 रन बनाए। स्मृति मंधाना ने 32 गेंदों पर 61 रन की पारी खेली। जेमाइमा रोड्रिगेज ने 31 गेंदों पर 44 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 160 रन ही बना सकी। कप्तान नैट शिवर ने सबसे ज्यादा 41 रन बनाए। भारत की ओर से स्नेह राणा ने सबसे ज्यादा 2 विकेट लिए।

17 ओवर तक इंग्लैंड की टीम थी जीत की दावेदार
इंग्लैंड ने 17 ओवर में तीन विकेट खोकर 135 रन बना लिए थे। मेजबान टीम को आखिरी तीन ओवर में 30 रन की जरूरत थी और दो सेट बैटर कप्तान नैट शिवर और एमी जोंस क्रीज पर थीं। यहां से भारतीय गेंदबाजों ने पासा पलट दिया। स्नेह राणा ने 18वें ओवर में सिर्फ 3 रन दिए और जोंस का विकेट भी ले लिया। आखिरी दो ओवर में इंग्लैंड को 27 रनों की जरूरत थी। पूजा वस्त्रकार ने 19वें ओवर में 13 दिए। आखिरी ओवर में इंग्लैंड को जीत के लिए 14 और टाई के लिए 13 रन की जरूरत थी लेकिन 9 रन ही बन पाए।

पहले विकेट के लिए तूफानी साझेदारी
मंधाना और शेफाली ने भारतीय टीम को तेज शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट की साझेदारी में 7.5 ओवर में 76 रन जोड़े। फ्रेया कैंप ने शेफाली का विकेट लिया। मंधाना को नताली स्किवर ने पवेलियन की राह दिखाई। इसके बाद भारतीय पारी कुछ धीमी हो गई। भारत के 100 रन 13 ओवर में पूरे हुए। कप्तान हरमनप्रीत कौर 20 गेंद पर 20 रन बनाकर आउट हुईं। जेमाइमा भी शुरुआत में धीमी खेलीं लेकिन बाद में उन्होंने रफ्तार बढ़ाने में सफलता हासिल की। दीप्ति शर्मा ने 20 गेंद पर 22 रन बनाए।

भारतीय दर्शकों की खातिर बदला गया मुकाबले का समय
भारत और इंग्लैंड के बीच सेमीफाइनल मैच भारतीय समयानुसार रात 10.30 बजे खेला जाना था, लेकिन अब इसके समय में बदलाव हो गया है। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले सेमीफाइनल का समय भी बदल गया है। भारत ने टी20 क्रिकेट में केवल एक दिन-रात का खेल खेला है और वह बारबाडोस के खिलाफ चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में खेला गया था। इसके बाद हरमनप्रीत कौर के नेतृत्व वाली टीम के अंतिम चार में पहुंचने के साथ ही आयोजकों ने भारतीय दर्शकों के लिए एक बड़ा बदलाव किया है।

Related Articles

Back to top button