राज्य प्रशासन

कोरोना; अफसर-कर्मियों के एक दिन का वेतन नहीं कटेगा

मुख्यमंत्री सहायता कोष; वेतन मिलने के बाद डीडीओ.के पास नगद जमा करें–झा

रायपुर , छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ सहित प्रदेश के सभी संगठनों, कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने प्रदेश में कोरोना वायरस के बचाव व जरूरतमंदों की सहायता के लिए अपना एक दिन का वेतन ‘मुख्यमंत्री सहायता कोष‘‘ द्वारा जमा करने की घोषणा की है किंतु तकनीकी कारणों से मार्च माह के वेतन देयक से एक दिन का वेतन कटना संभव नहीं है। आॅनलाइन वेतन भुगतान व्यवस्था जब से लागू है तब से पृथक से वेतन काटना संभव नहीं है। इसलिए संघ ने अपील की है जो अधिकारी कर्मचारी स्वेच्छा से मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान करना चाहता है, वे वेतन प्राप्त करने के बाद अपने विभाग के डी.डी.ओं. के पास नगद जमा कराऐगें। संघ के प्रांतीय अध्यक्ष पी.आर.यादव ने तदाशय की सूचना सभी पदाधिकारियों को प्रेषित् की है।
          छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के प्रांतीय प्रवक्ता विजय कुमार झा, जिला शाखा अध्यक्ष इदरीश खाॅन ने बताया है कि संचालनालय, कोष लेखा एवं पेंशन इंद्रावती भवन द्वारा जारी निर्देश में प्रदेश के समस्त कोषालय अधिकारियों को मार्च माह पेड इन अप्रैल 2020 का वेतन देयक 4 अप्रैल 2020 तक ई-कोष में अपलोड करने हेतु निर्देशित किया है। सभी आहरण एवं संवितरण अधिकारियों को ‘‘साइवर ट्रेजरी साफ्टवेयर‘ में रिमोट लांगिंग के माध्यम से देयक तैयार करने की सुविधा उक्त निर्देश में वित्त विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई हैर्। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए निर्देशानुसार माह मार्च पेड इन अप्रैल 2020 का वेतन देयक 4 अप्रैल 2020 तक ई-कोष में अपलोड करने सभी डी.डी.ओं. को निर्देशित कर  संबंधित कोषालय अधिकारी देयक पारित कर तत्काल संबंधित अधिकारी कर्मचारी के खाते में जमा कराना सुनिश्चित करेगें। किंतु प्रदेश के अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा उक्त् मार्च माह के वेतन से एक दिन का वेतन कटौती कर सहायता कोष में देने के निर्णय का पालन इसलिए संभव नहीं है।

प्रांतीय महामंत्री विजय कुमार झा ने जिम्मेदार कोषालय अधिकारियों से चर्चा की है तदनुसार वेतन देयक से एक दिन का वेतन कटौती करना संभव नहीं है। आॅन लाइन देयक जमा करने पर कोषालय द्वारा देयक पर आपत्ति दर्ज की जा सकती है, क्योंकि शासनादेश भी नहीं है और वेतन पूर्ण रूप से ही आहरित होगा, कटौती संभव नहीं है। ऐसी स्थिति में संघ ने अपील कीे है कि जो अधिकारी कर्मचारी  इस महामारी आपदा में दान करना चाहते है वे वेतन प्राप्त करने के बाद अपने विभागीय अधिकारी जो वेतन आहरण के लिए डीडीओं घोषित है उनके पास नगद जमा करें या स्वेच्छा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री सहायता कोष में आॅन लाइन दान राशि जमा कर सकते है। ऐसा निर्देशित किया गया है।

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button