राज्य प्रशासन

जरुरी उद्योगों को छोड़कर शेष उद्योगों को बंद करने के निर्देश

कोरोना; वाणिज्य एवं उद्योग विभाग द्वारा विस्तृत दिशा-निर्देश जारी   रायपुर  कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के मद्देनजर राज्य शासन के वाणिज्य एवं उद्योग विभाग द्वारा खाद्य प्रसंस्करण, चिकित्सा, दवाईयों तथा उपकरण को छोड़कर अन्य उद्योगों के उत्पादन तथा संचालन बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। विभाग द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है – भारत सरकार द्वारा आवश्यक सेवाओं की सूची में शामिल उद्योगों जैसे-खाद्य प्रसंस्करण, चिकित्सा और आवश्यक दवाईयों तथा उपकरण से संबंधित संस्थानों और सेवाओं का संचालन करने तथा शेष औद्योगिक संस्थानों को तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक उत्पादन एवं संचालन बंद किया जाए। इनमें ऐसे संस्थान शामिल नहीं है, जिनमें उत्पादन की प्रक्रिया लगातार चलती हो यथा-ब्लास्ट फर्नेस प्रक्रिया से लौह निर्माण आदि। सभी कलेक्टरों और जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधकों को जारी निर्देश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए हैं।
         वाणिज्य एवं उद्योग विभाग द्वारा औद्योगिक संस्थानों में कोविड-19 संक्रमण की गंभीरता तथा देश एवं प्रदेश में इस संक्रमण विस्तार के खतरे को ध्यान में रखते हुए इसकी रोकथाम के लिए विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। राज्य में स्थापित समस्त औद्योगिक-व्यापारिक इकाईयों को निर्देशित किया गया है कि वे केवल उन इकाईयों जो भारत शासन द्वारा आवश्यक सेवाओं की सूची में अनुमत हो, यथा-खाद्य प्रसंस्करण, चिकित्सा से संबंधित आवश्यक दवाएं एवं उपकरण से संबंधित औद्योगिक संस्थानों-सेवाओं का प्रचालन किये जावे। शेष औद्योगिक संस्थानों (उन संस्थानों को छोड़कर जिनमें उत्पादन प्रक्रिया अनवरत प्रकृति की हो यथा-ब्लास्ट फर्नेस प्रक्रिया से लौह निर्माण) को तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक उत्पादन एवं संचालन बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी प्रकार औद्योगिक संस्थानों में नियमित एवं अनियमित अधिकारियों-कर्मचारियों को दिए जाने वाले वेतन-भत्ते समय पर देने, अनवरत प्रकृति के उत्पादन वाली इकाईयों-संस्थाओं में न्यूनतम अनिवार्य आवश्यकता तक ही अधिकारियों-कर्मचारियों का उपयोग करने महामारी से सुरक्षा हेतु दिए जा रहे निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से करने, इन संस्थान में कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों के स्वास्थ्य की सतत् निगरानी के निर्देश दिए गए हैं।
           
   औद्योगिक संस्थानों द्वारा यह ध्यान रखा जाए कि संक्रमण विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार, राज्य सरकार तथा समय-समय पर अन्य संस्थानों के द्वारा महामारी से सुरक्षा हेतु दिए जा रहे निर्देशों को अक्षरशः पालन अनिवार्य रूप से सुनिश्चित किया जाए। प्रबंधन द्वारा समूह में आवागमन हेतु वाहन व्यवस्था किसी भी स्थिति में उपलब्ध नहीं हो। संस्थान में कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों के स्वास्थ्य की सतत् निगरानी रखी जाए। कोई भी व्यक्ति संक्रमित न हो, इसका समुचित ध्यान रखा जाए। इस प्रकार के संक्रमण के रोकथाम की समुचित व्यवस्था एवं निर्देश पालन की संपूर्ण जिम्मेदारी संस्थान के प्रबंधन की होगी।
         

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button