जिला प्रशासन

श्रमिकों को असहाय छोडा तो ठेकेदार व बिल्डरों की खैर नहीं

ठहराने तथा भोजन की व्यवस्था भी करे  अन्यथा जुर्म दर्ज होगा

रायपुर, कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी  डां एस भारती दासन   ने समूह के रूप में रायपुर जिले में बाहर से श्रमिकों एवं मजदूरों को लाने वाले सभी ठेकेदारों ,बिल्डरों और कांट्रैक्टरो को सचेत किया है कि वे इन मजदूरों और श्रमिकों को ठहराने तथा भोजन के लिए समुचित व्यवस्था करे और आवश्यक कदम उठाएं, ऐसे मजदूरों और श्रमिकों किसी भी स्थिति में उनके हाल पर नहीं छोड़े । कलेक्टर ने ऐसे ठेकेदारों, कांट्रैक्टरो और बिल्डरों से यह भी कहा है कि ऐसे मजदूरों और श्रमिकों को निराश्रित एवं असहाय छोड़ देने दिए जाने पर उनके खिलाफ एफ. आई .आर .दर्ज किया जाएगा और उनके विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

 उल्लेखनीय है कि जिला प्रशासन द्वारा निराश्रित ,असहाय ,भिखारियों और मंदबुद्धियो के लिए भोजन की व्यवस्था की जा रही है ,साथ ही साथ इसके लिए नागरिकों से भी आगे बढ़कर सहयोग करने का आव्हान किया गया है । जिले के सभी प्रभावशाली, समृद्ध,सेवाभावी और समर्थ लोगों से आग्रह किया गया है कि वे इस कार्य में आगे आकर जिला प्रशासन का सहयोग दें।

शासकीय कार्यों के लिए पेट्रोल पंपों में डीजल और पेट्रोल रखा जाए रिजर्व
 रायपुर,  कोरोना वायरस के संक्रमण के फलस्वरूप संपूर्ण जिले में लाँक डाउन किया गया है।रायपुर कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ एस भारतीदासन ने छत्तीसगढ़ मोटर स्पिरिट एवं हाई स्पीड डीजल आदेश 1980 की कंडिका 10 के तहत निर्देशित किया है कि जिले में आवश्यक शासकीय कार्य हेतु आगामी आदेश तक जिले के समस्त डीजल एवं पेट्रोल पंपों में रिजर्व स्टाक के रूप में 3 हजार लीटर डीजल एवं 2 हज़ार लीटर पेट्रोल रखा जाए ।आयल कंपनियों के द्वारा जिले के पेट्रोल एवं डीजल पंप में पेट्रोल और डीजल के पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं।इन निर्देशो का पालन नही करने वाले पेट्रोल पम्प मालिको के ऊपर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button